My Blog List

20141203

टेलीवुड बॉलीवुड से छोटा नहीं


सोनाली बेंद्रे को उनके टेलीविजन पर प्रसारित हो रहे नये शो अजीब दास्तां है ये के लिए काफी सराहना मिल रही है. सोनाली रियलिटी शो, फिक् शन शो के माध्यम से लगातार छोटे परदे पर सक्रिय हैं. 

 टेलीविजन हमेशा रहेगा खास
मुझे लगता है कि टेलीविजन बड़ा माध्यम है, जिससे हम कई तरह के प्रयोग कर सकते हैं. हमसे कई बार यह सवाल पूछा जाता है कि हमें फिल्में नहीं मिल रही. इसलिए हम टीवी पर आते हैं. मेरा मानना है कि फिल्मों में आप एक सीमा तक फिल्में कर पाते हैं. फिर कई तरह की चीजें मायने रखने लगती हैं. छोटा परदा आपको सम्मान देता है और यही खूबी मुझे टेलीविजन की पसंद है. मैं रियलिटी शोज का हिस्सा कई सालों से बनती रही हूं. लेकिन वहां रियल होना पड़ता है. वहां एक्टिंग करने का मौका नहीं मिलता. इसलिए टेलीविजन पर फिक् शन शो करना शुरू किया है. ताकि एक एक्टर की भी भूख शांत हो सके.
कहानी सुनने को भी तैयार नहीं थीं
हालांकि मुझे जब इस शो के लिए अप्रोच किया गया था. मैं कहानी सुनने के लिए भी तैयार नहीं थी इस शो के लिए. फिर चैनल की तरफ से मेरे पति गोल्डी बहल के पास कॉल गया और गोल्डी ने मुझे कनविन्स किया कि मैं एक बार कांसेप्ट सुन लूं. और वाकई जब मैंने कांसेप्ट सुना मैं खुश हुई कि टीवी पर ऐसे भी शोज आयेंगे. इस शो की खास बात यह है कि मुझे मेरी उम्र का ही किरदार निभाना है. सो, मुझे ज्यादा मेहनत नहीं करनी पड़ी है.
मेकअप है ही नहीं
दूसरी बात यह भी मेरे लिए बहुत खास थी कि मुझे इस शो में डेली सोप की तरह बहुत ज्यादा मेकअप नहीं करना था. भारी ज्वेलरी, भारी कॉस्टयूम में नहीं रहना था. मेरा कॉस्टयूम बिल्कुल मेरे कंफर्ट के अनुसार है. सो, ये चीजें मुझे अच्छी लगीं. शो में लाउड संवाद नहीं हैं. जैसे डे टू डे हम एक दूसरे से बातें करते हैं. वैसी कहानी है. इसलिए मुझे मजा आ रहा है.
 को स्टार्स बेहद अच्छे हैं
आमतौर पर लोगों के दिमाग में ये बातें रहती हैं कि चूंकि हम बॉलीवुड के हैं तो हम टेलीवुड के स्टार्स के सामने खुद को सुपीरियर दिखाते होंगे. लेकिन ऐसा हरगिज नहीं है. टेलीवुड में भी एक से बढ़ कर एक एक्टर हैं. हर्ष और अपूर्व दोनों शानदार एक्टर हैं. और मुझे उनके साथ काम करके बहुत मजा आ रहा है.
घर की जिम्मेदारी भी अहम
मैं भले ही डेली सोप कर रही हूं. लेकिन मेरे दिमाग में मेरा घर रहता ही है. मैंने जो वक्त दे रखा है. उसी वक्त में शूटिंग पूरी करना जरूरी है. यह मैंने पहले से ही तय रखा था और खास बात यह है कि मुझे बालाजी पूरा सहयोग भी करता है. इसलिए मुझे कोई दिक्कत नहीं होती.
एकता जैसी कोई नहीं
वाकई एकता टेलीविजन की क्वीन हैं. उन्हें अच्छी तरह से पता है कि किस तरह से स्ट्रेजी तैयार करना है. कौन से शो चलेंगे कौन से नहीं. उनकी खुद की शादी नहीं हुई है. लेकिन शादी के बाद या शादी के रिश्ते में क्या कांप्लीकेशन आते हैं. वह अच्छी तरह समझती हैं. और उसी के आधार पर सारे शोज तैयार करती हैं. शायद यही वजह है कि उनके शोज कामयाब हैं.

No comments:

Post a Comment