My Blog List

20130903

महिलाओं का समझना बेहद कठिन : अभय देओल


अभय देओल इन दिनों जीटीवी के शो कनेक्टिंग हम तुम में होस्ट की भूमिका निभाते नजर आ रहे हैं. यह अभय देओल के लिए पहला मौका है, जब वह किसी टीवी शो का हिस्सा बन रहे हैं. पेश है अनुप्रिया अनंत से हुई बातचीत के मुख्य अंश

अभय देओल प्रयोग में विश्वास रखते हैं और प्रयोग के लिए वे टीवी का हिस्सा बने हैं.
क्या है शो का कांसेप्ट
कनेक्टींग हम तुम एक ऐसा शो है, जिसमें 6 महिलाएं अपनी पूरी दिनचर्या को कैमरे में कैद करेंगी. इस शो के माध्यम से महिलाओं की जिंदगी को समझने की कोशिश की जायेगी.
खुश हूं कि पहला ही मौका शानदार मौका है
मैं प्रयोग करने में विश्वास रखता हूं. जीटीवी जब मेरे पास इस शो का कांसेप्ट लेकर आया था. उस वक्त मुझे इस बारे में खास जानकारी नहीं थी. मुझे सिर्फ इतना बताया गया था कि 6 आम महिलाएं खुद अपनी पूरी दिनचर्या को कमरे में कैद रखेंगी. यह शो कोशिश है महिलाओं को समझने की. मुझे कांसेप्ट अच्छा लगा और मैंने हां कह दी. चूंकि इस शो के माध्यम से मुझे भी महिलाओं को और करीब से जानने का मौका मिला है.
किसे करूंगा मैं कैमरे में कैद
अगर मुझे कभी मौका मिले तो मैं चाहूंगा कि मैं अपनी बहन और अपनी मां को कैमरे में कैद करूं. ताकि मैं देखना चाहता हूं कि वे अपनी जिंदगी किस तरह से जीती हैं. वैसे मैं मानता हूं कि महिलाओं की जिंदगी  पुरुषों से अधिक कठिन होती है और उन्हें काफी चीजों से गुजरना पड़ता है. जीटीवी के इस पहल से कई चीजें सामने आयेगी.सबसे खास बात महिलाओं के बारे में जो मैं नहीं जानता था कि वह बहुत ज्यादा धैर्य रखनेवाली होती हैं. उन्हें गुस्सा जल्दी नहीं आता. लेकिन जब आता है तो वह जल्दी शांत नहीं हो पाये.  इस शो के बारे में एक बात और बताना चाहंूगा कि मैं इस शो के हर एपिसोड में नजर आऊंगा.
रांझना में खास किरदार
रांझना फिल्म में मंै एक स्पेशल अपीयरेंस में हूं. छोटा सा किरदार है. लेकिन इस फिल्म में मैंने जो किरदार निभाया है वह मेरे लिए खास है. आप फिल्म देखेंगे तो आप महसूस करेंगे कि फिल्म में छोटा लेकिन इफेक्टिव किरदार है. कई लोगों ने मुझसे यह बात पूछी है कि क्या अब सोनम से मेरे रिश्ते सुधर चुके हैं तो मैं उनसे यही कहना चाहूंगा कि हां, हमने कोई दुश्मनी नहीं पाल रखी थी. तू तू मैं मैं तो होती रहती है. लेकिन रांझना में उनके साथ काम करके काफी मजा आया. और मुझे लगता है कि भविष्य में हम दोनों की जोड़ी आॅन स्क्रीन अच्छी जोड़ी बन सकती है
सोनिया गांधी को कैमरे में कैद करूंगा
मैं चाहता हूं कि किसी पब्लिक फीगर को एक दिन के लिए मैं कैमरे में कैद करूं, ताकि  देख सकूं कि आखिर वे अपनी जिंदगी किस तरह से जीते हैं और अगर मुझे कभी मौका मिला तो मैं चाहूंगा कि मैं सोनिया गांधी को कैद करूं कि आखिर कैसे सरकार काम करती हैं. मेरा यह बोलना बड़बोला पन लग सकता है. लेकिन यही मेरी इच्छा है.
फिल्में करता रहूंगा
मैं टेलीविजन पर फिलहाल सिर्फ एक ही शो का हिस्सा हूं. और इस शो को होस्ट कर रहा हूं. इसका यह कतई मतलब नहीं कि मैं किसी भी शो के साथ जुड़ जाऊंगा. मुझे टीवी पर सास बहू के शोज या आमतौर पर दिखाये जाने वाले रियलिटी शोज बिल्कुल पसंद नहीं है. सो, मैं शोज का हिस्सा नहीं बनूंगा. मेरी अभी भी प्राथमिकता फिल्में हैं. लगातार फिल्में करता रहूंगा. मैं खुद को स्टीरियोटाइप नहीं बना सकता. मेरी कोशिश है कि मैं वह सबकुछ करूं जो एक अच्छा अभिनेता करता है.

No comments:

Post a Comment