My Blog List

20130903

छोटे किरदार कर सकता हूं बुरे नहीं


गौरव गेरा जब लड्डू बनते हैं, तब भी दर्शक उनसे जुड़ जाते हैं. वे मैना के तोता बनते हैं, तब भी दर्शकों को वह बेहद पसंद आते हैं. वजह यह है कि गौरव आम लोगों की तरह ही दिखते हैं और वैसे ही किरदारों में नजर भी आते हैं. इस बार वह कलर्स टीवी के शो पम्मी प्यारेलाल में एक अलग ही अंदाज में हैं. इस बार वह सबको एक लड़की की भूमिका निभा कर लुभा रहे हैं. पेश है बातचीत के मुख्य अंश

त्रगौरव, अचानक एक लड़की का किरदार निभाने के लिए आप राजी हो गये है? कोई खास वजह?
देखिए, पहली बात कि यह प्रश्न तो आपको पम्मी प्यारेलाल के मेकर्स से पूछनी चाहिए कि उन्हें कैसे मैं इस किरदार के लिए परफेक्ट च्वाइस लगा. मुझे तो यह किरदार जब आॅफर किया गया है तो मैं सरप्राइज था. मुझे डर लगा था शुरू में कि पता नहीं लोग इस तरह के विषय टेलीविजन पर स्वीकारेंगे कि नहीं, चूंकि इस तरह के कम ही विषय दिखाये जाते हैं. लेकिन मैंने अब तक जितने भी शो किये हैं, उसमें मैं पुरुष की भूमिका ही निभाता रहा हूं. पहली बार इस तरह का किरदार मिला है. यह इनोवेटिव आइडिया है और मैं खुश हूं कि मुझे यह निभाने का मौका मिला. मेरा तो मानना था कि इस विषय पर फिल्म बननी चाहिए थी.
त्रपम्मी प्यारे लाल के किरदार के बारे में बताएं?
पम्मी प्यारेलाल एक फैमिली शो है. इस शो में मैं लड़की के किरदार में हूं. एक ऐसी लड़की जो काफी सुंदर दिखती है, वह मॉडल की तरह ग्लैमरस जिंदगी जीती है. उसे सभी प्यार करते हैं, इसलिए वह प्यारे लाल है. आखिर पम्मी प्यारेलाल कैसे बनती है. शो इसी पर आधारित है. आपको देख कर बहुत मजा आयेगा.
त्रफिल्मों में इस तरह के विषय दिखाये जाते रहे हैं. तो क्या आपने कहीं से कुछ रेफरेंस लिये हैं?
हां, अगर मैं यह कहूं कि मैंने कहीं से भी रेफरेंस नहीं लिया है तो यह गलत होगा. चूंकि मैं कॉमेडी फिल्मों का बहुत बड़ा शौकीन हूं और हर तरह की कॉमेडी फिल्में करता रहता हूं. सो, मैं कहूंगा कि गोविंदा जी का जो अंदाज फिल्म आंटी नंबर 1 में रहा है. उसे देख कर मैं प्रभावित रहा हूं. गोविंदा ऐसे भी मेरे पसंदीदा स्टार हैं. उनकी कॉमिक टाइमिंग कमाल की है, जिसे नकारा नहीं जा सकता. इसके अलावा शो के मेकर्स ने जो परिकल्पना की है, मैं उसी आधार पर काम कर रहा हूं.
त्रगौरव, आपने अब तक जितने भी किरदार निभाये हैं. दर्शकों ने आपको हर रूप में पसंद किया है. तो क्या मानते हैं क्या वजह है कि दर्शक आपसे कनेक्ट कर पाते हैं?
सबसे बड़ी वजह तो यह है कि मैं ग्लैमर फील्ड का बिल्कुल नहीं लगता और यही मेरी यूएसपी भी है. दर्शकों को लगता है कि उनके बीच का ही कोई है. तो उनसे वह कनेक्ट कर पाते हैं और मेरे किरदार भी तो आज तक सार ेआम रहे हैं. फिर चाहे मेरा पहला शो लड्डू रहा हो. या फिर जस्सी जैसी कोई नहीं. मैं जैसा वास्तविक जिंदगी में हूं. वैसा ही तो नजर भी आता हूं. परदे पर. इसलिए दर्शक मुझे पसंद करते हैं. ऐसा मुझे लगता है.
त्रलेकिन आप डेली सोप में बहुत अंतराल के बाद नजर आते हैं?
हां, क्योंकि मुझे वैसे ही शोज करने हैं. जो अलग हों. मैं छोटे किरदार करने के लिए भी तैयार हूं. लेकिन मैं बुरे किरदार नहीं कर सकता. डेली सोप में काफी मेहनत भी है. आपकी पूरी जिंदगी डेली सोप में ही चली जाती है. सो, मैं टीवी पर अभिनय के अलावा अपना बहुत सारा काम करता हूं. अब भी थियेटर करता हूं. दिल्ली में हमारा गुप्र है घूंघरू . उसके कई लाइव शोज करता हूं. कॉमेडी शो करता हूं. स्टैंड अप कॉमेडी करता हूं और अभिनय से इतर मेरे दोस्तों मेरी फैमिली की दुनिया है. उसमें रहता हूं. संतुष्ट हूं बिल्कुल कि लंबे अंतराल के बाद भी लौटता हूं तो दर्शकों को पसंद आता हूं.
त्रआप फिलवक्त पम्मी प्यारेलाल की भूमिका में हैं तो कभी ऐसा हुआ कि आॅफ स्क्रीन आप उसी वेष में कहीं पब्लिक प्लेस पर गये हैं और शर्मिंदा होना पड़ा हो?
( हंसते हुए )हां, एक दिन मैं एयरपोर्ट पर था. कहीं से प्यारेलाल का प्रोमोशनल इवेंट से लौट रहा था. तो मेरे पैरों की उंगलियों पर से मैं नेलपॉलिश उतारना भूल गया था. और मेरे पैरों में लेडिज स्लीपर थी. वहां सेक्योरिटी में जब मुझे देखा गया तो वे लोग हंस रहे थे. तब मुझे एहसास हुआ कि मुझे इन बातों का ख्याल रखना चाहिए.
त्रलोगों को हंसाना कितना मुश्किल काम है और वर्तमान में टीवी पर किसे आप बेस्ट कॉमेडियन मानते हैं?
 हंसाना तो हमेशा सबसे कठिन काम होता है. सबसे मुश्किल काम यह है कि आपके पास अपना भी प्रेजेंस आॅफ माइंड होना चाहिए और वक्त पर आपको इसका इस्तेमाल करना चाहिए. और वर्तमान में मैं सबसे ज्यादा  अप्रीशियेट तो कपिल शर्मा को करूंगा. कमाल हैं वह.

No comments:

Post a Comment