My Blog List

20130930

मां कहती है रिहर्सल अच्छी होनी चाहिए : रुशलान


फिल्मों में करियर आजमाने के बाद इन दिनों रुशलान छोटे परदे पर धमाल मचा रहे हैं. वे सोनी टीवी के शो कहता है दिल से दर्शकों का दिल जीत रहे हैं.

रुशलान, आप बॉलीवुड का हिस्सा रहे. फिर टीवी पर क्यों ?
मुझे लगता है कि मैं एक्टर हूं और छोटा परदा कोई छोटा तो है नहीं. वह काफी बड़ा है. इसका कैनवास बड़ा है. तो क्यों न मैं यहां भी खुद को एक्सप्लोर करूं. कहता है दिल को लेकर मैं बेहद खुश हूं कि इतने अच्छे प्रोजेक्ट पर मुझे काम करने का मौका मिला है. मैं इसके लेकर बेहद उत्साहित हूं. मुझे छोटे परदे पर शुरुआत के लिए एक अच्छा प्रोडक् शन हाउस मिला है, अच्छे स्टार कास्ट मिले हैं और ऐसे लोकप्रिय चैनल के साथ काम करने क ेबाद मैं यह नहीं समझता कि मुझे इससे कोई और अच्छा मौका मिलता. मैं अच्छा काम करता चाहता हूं और इसके लिए माध्यम को लेकर बिल्कुल भी नहीं सोचता. ऐसा नहीं है कि मैंने फिल्मों को छोड़ जिया है. मैं टीवी में काम कर रहा हूं. वापस फिल्मों में आऊंगा. विज्ञापन में काम कर ही रहा हूं. शो की मेजबानी भी करूंगा. टीवी में बहुत कुछ है मेरे लिए. लेकिन फिलहाल इस शो पर ध्यान दे रहा हूं.
शो को जिस तरह से टीआरपी मिल रही है. इस पर आपकी क्या प्रतिक्रिया है?
धीरे धीरे दर्शकों को यह शो और पसंद आयेगा. किसी भी शो को पूरी तरह से शेप लेने में वक्त लगता है. मैं इस शो में जैसा किरदार निभा रहा हूं. लोगों को स्वीकारने में वक्त लगेगा. वैसे मुझे लग रहा है कि लोगों को मुझे छोटे परदे पर देख कर थोड़ा आश्चर्य हो रहा है. लेकिन मुझसे पहले रॉनित रॉय और भी कलाकार आये हैं तो दर्शकों को मैं भी पसंद आऊंगा.
शो के किरदार से आप वास्तविक जिंदगी में कितने मेल खाते हैं?
बहुत मैं खुद धु्रव की तरह ही मस्ती खोर हूं. फन लविंग हूं.  मैं जिंदगी को पॉजिटिविटी के साथ जीने में विश्वास रखता हूं. मेरे लिए जिंदगी का मतलब ही खुशी है. और जिस तरह के रिलेशनशीप को इस शो में दर्शाया जा रहा है.रियल लाइफ में ऐसा होता भी है. इसलिए मुझे ये किरदार बेहद पसंद है. हां, लेकिन मैं काम करते वक्त गंभीर हो जाता हूं. बस यही एक फर्क है रुसलान और धु्रव में.
 संगीता के साथ केमेस्ट्री कैसी है आपकी?
टीवी की बड़ी अभिनेत्री हैं संगीता. काफी एक्सपीरियंस हैं उन्हें. लेकिन फिर भी उन्हें देख कर ऐसा नहीं लगता. क्योंकि वह काफी सॉफ्ट हरटेड हैं. सबसे काफी अच्छे से बात करती हैं सेट पर. खास बात यह है कि उनकी आवाज काफी सॉफ्ट हैं और जब वह बांग्ला में बात करती हैं तो मुझे और अच्छा लगता है. मैंने उनके बाकी के भी शोज देखे हैं और वह उनमें भी मुझे बेहद अच्छी लगती हंै.
आपकी मां ( अंजना मुमताज)भी अभिनेत्री हैं. तो क्या उनसे टिप्स मिलते हैं आपको?
हां, मां हमेशा समझाती है मुझे कि मुझे अपने एक्ट से पहले रिहर्सल बहुत ज्यादा करना चाहिए. चूंकि यह बेहद जरूरी है कि आप रिहर्सल करो ताकि अपनी लाइनें न भूलो. तभी आप आगे अच्छा काम कर सकते हो, और अपने किये हुए काम का फाइनल आउटपुट तो जरूर देखो.फिर अपनी कमी को तलाशो और उन्हें दूर करने की कोशिश करो. तभी अच्छे एक्टर कहलाओगे. 

No comments:

Post a Comment