My Blog List

20140425

एक समर्पित पिता


 इमरान हाशमी इन दिनों परेशान हैं. चूंकि वे अपने बेटे अयान के कैंसर के इलाज में जुटे हुए हैं. अयान अभी चार साल के हैं. इमरान को जब बेटे की बीमारी का पता चला तो उन्होंने फौरन इलाज शुरू किया. इमरान ने एक इंटरव्यू के दौरान बताया कि उनके बेटे को उन्होंने यह नहीं बताया है कि उन्हें कौन सी बीमारी है. वे उन्हें हॉस्पीटल यह कह कर ले जाते हैं कि वहां बैटमैन है. चूंकि उनके बेटे को बैटमैन के किरदार से प्यार है. उन्हें मनाने के लिए इमरान हमेशा बैटमैन के नाम का ही इस्तेमाल करते हैं. दरअसल, हकीकत यही है कि किसी भी पिता के लिए यह बेहद दुखद है कि उनके सामने उनके नन्हे से बच्चे को कैंसर जैसी बीमारी जकड़ ले. इमरान हाशमी की आॅन स्क्रीन छवि उनके किरदारों के आधार पर यही बना ली गयी है कि वे बेपरवाह, लड़कीबाज और अय्याश करनेवाले अभिनेता हैं. मुझे याद है. मेरे अपने शहर बोकारो में मेरे घर के ही एक बुजुर्ग सदस्य ने कहा वह इमरान हाशमी तो एक नंबर का अय्याश लगता है. लेकिन हकीकत यह है कि इमरान आॅफ स्क्रीन यानी वास्तविक जिंदगी में बेहद संजीदा, संवेदनशील व्यक्ति हैं. उन्होंने अपने बेटे की खातिर फिलवक्त सारी फिल्मों को ताक पर रख दिया है. साथ ही सभी जानते हैं कि इमरान का नाम आज तक किसी अभिनेत्री के साथ नहीं जुड़ा है. उन्होंने अपनी जीवनसाथी के रूप में भी फिल्म इंडस्ट्री से बाहर की लड़की चुनी. यही नहीं वे उन्हें लेकर समर्पित भी हैं.वे आमतौर पर पार्टियों में नजर नहीं आते. परिवार के साथ वक्त बिताना उन्हें अच्छा लगता है. सो, कई बार अभिनेताओं के साथ यह विडंबना हो जाती है कि हम परदे पर अच्छे किरदार निभानेवाले कलाकारों के बारे में यही सोचने लगते हैं कि वह वास्तविकता में भी सकारात्मक ही होगा. लेकिन होता इससे उलट है. ठीक उसी तरह परदे का खलनायक असल जिंदगी में भी खलनायक नहीं होता

No comments:

Post a Comment