My Blog List

20150630

कान का रेड कारपेट


कान फिल्मोत्सव में हर वर्ष भारत से बॉलीवुड की फिल्में उपस्थित हो न हो. लेकिन बॉलीवुड की कुछ अभिनेत्रियां जरूर शामिल होती हैं, जिनमें सोनम कपूर और ऐश्वर्य राय बच्चन का नाम सर्वोपरि है. वे एक ब्रांड के प्रोमोशन के लिए कान जाती हैं. खासतौर से ऐश्वर्य राय बच्चन के लिए कान कई मायनों में खास रहा है. इसी कान महोत्सव में उन्होंने फिल्म हीरोइन की घोषणा की थी. लेकिन बाद में प्रेगेनेंसी के कारण उन्हें फिल्म छोड़नी पड़ी थी. और फिर से एक बार वे अपनी फिल्म जज्बा से चूंकि बॉलीवुड में वापसी कर रही हैं. उन्होंने फर्स्ट लुक कान में ही जारी किया है. सोशल मीडिया से लेकर हर वेबसाइट्स पर ऐश्वर्य, कट्रीना और सोनम कपूर के परिधानों और उनके लुक व रेड कारपेट के बारे में चर्चा हो रही है. लेकिन यह चर्चा केवल भारत में ही हो रही है. चूंकि अगर गौर करें कि जिन रेड कारपेट की तसवीरों  पर इन अभिनेत्रियों की धूम मचाने की चर्चा हो रही है. उन तसवीरों में कान में मौजूद फोटोग्राफर इन अभिनेत्रियों की तसवीरें लेने में कितनी दिलचस्पी दिखा रहे. वह स्पष्ट रूप से देखा जा रहा है. अभिनेत्रियां जिस तरह पोज देकर खड़ी हैं. फोटोग्राफर और उनके कैमरे किसी अन्य हस्तियों की तरफ हैं. हां, पिछले वर्ष ऐश्वर्य रेड कारपेट पर आकर्षण का केंद्र रही थीं. लेकिन इस वर्ष नहीं. अफसोस सिर्फ इस बात का है कि भारतीय मीडिया कान फिल्मोत्सव के सिर्फ दिखावे को दिलचस्पी देता है. आलेख लिखने तक भारत की ही एक फिल्म मसान इस महोत्सव में प्रतियोगिता में शामिल हुई है. नीरज घायेवान की इस फिल्म के बारे में बिरले ही सोशल साइट्स पर बातचीत हो रही. जबकि ऐसी फिल्मों को ही प्रचार प्रसार की जरूरत है. लेकिन कान जैसे महोत्सवों में भी हमें सिर्फ दिखावे को ही दर्शकों के सामने परोसने में मजा आ रहा है और यह कान का अपमान ही है.

No comments:

Post a Comment