My Blog List

20150630

ोपाल को काफी मिस करता हूं: रफी


धारावाहिक तेरे शहर में एक बेहतरीन किरदार निभा रहे रफी मलिक खुश हैं कि लोग उनके किरदार को काफी पसंद कर रहे हैं. 

रफी आपके किरदार को काफी लोकप्रियता मिल रही है. जबकि आप सहयोगी कलाकार हैं. सहयोगी कलाकार होने के बावजूद जब ऐसी लोकप्रियता मिलती है तो कैसा लगता है?
मुझे बेहद खुशी है कि मैं लीड किरदार न होते हुए भी लोगों में लोकप्रिय हो रहा हूं. लोग मेरे किरदार की चर्चा कर रहे हैं. मैं इस बात से बेहद खुश हूं और यही वजह है कि जब मुझे यह आॅफर मिला था तो मैंने तुरंत हां कह दिया था. क्योंकि राजन सर के साथ काम करने का अनुभव ही अलग सा है. मैं जानता था कि मेरे किरदार को भी उनकी ही महत्ता मिलेगी जितना लीड किरदारों को मिल रहा है. शो में मंटू और अमाया की कहानी को जितनी प्रमुखता से दिखाया जा रहा है. मेरे किरदार को भी उतनी ही अहमियत मिल रही है. और मुझे काम करने  में बेहद मजा आ रहा है.
अब तक के अपने अभिनय के सफर को किस तरह देखते  हंै आप?
मैंने अपना करियर लीड किरदारों से ही शुरू किया था. राजवीर का किरदार हमेश खास रहेगा. पहला हमेशा खास ही होता है. मैंने इस सफर में काफी कुछ सीखा है. शहर को समझा. यहां की जरूरत को समझा. अपने साथ किसी भी तरह की नकारात्मकता को साथ नहीं रखा. मेरी यही कोशिश रही और मैं इसमें बहुत हद तक कामयाब भी हो पाया हूं.ऐसा मुझे लगता है. मैं अपने करियर से पूरी तरह संतुष्ट हूं. अब लोगों का मेरे प्रति नजरिया भी बदला है.
रामाश्रे के किरदार से आप वास्तविक जिंदगी में कितना वास्ता रखते हैं.
जी मैं रामाश्रे की तरह थोड़ा शर्मिला हूं. लेकिन जिंदगी को पूरी तरह एंजॉय करता हूं और जैसे उसे रिश्ते की अहमियत है. मैं भी वास्तविक जिंदगी में अपनों की काफी चिंता और कद्र करता हूं.जहां तक बात है प्यार की तो मुझे लगता है कि हां प्यार पहली नजर में भी हो सकता है.
आप अपनी जिंदगी में किस तरह की जीवनसाथी चाहते हैं?
मुझे वैसी लड़की पसंद है, जो मेटरलिस्टिक न हो. जो शौक रखते हो. लेकिन परिवार को भी अहमियत दे. मुझे वैसी लड़कियां पसंद हैं जो आत्मविश्वासी हों. और मुझे लगता है कि मैं वैसी किसी लड़की को पसंद आऊंगा जो यह समझेगी कि हां मैं औरतों की इज्जत करना जानता हूं.
अपने होमटाउन को कभी मिस करते?
हां, बहुत मिस करता. अब जिंदगी बदल चुकी है. लेकि अब भी मुझे लगता है कि मुझे सुकून अपने होमटाउन में ही मिलता है. मुझे अब भी जब मौका मिलता है मैं भोपाल जाने को तैयार हो जाता हूं. वहां काफी कम प्रदूषण है. साफ सफाई है. वातावरण काफी शांत है. वहां के लोग ज्यादा टेंशन में नहीं रहते. भागदौड़ नहीं है. इसलिए मुझे वहां की जिंदगी बहुत पसंद है. मैं यह मानता हूं कि मुंबई जैसे शहर में रह जाना, यहां स्थिरता लाने के लिए काफी मेहनत करनी पड़ती है. कठिन जिंदगी है यहां. और रिश्ते थोड़े सुपरफिशियल होते हैं. लोग काम से काम रखते हैं. लेकिन कुछ अच्छे दोस्त भी बन जाते हैं. होमटाउन मगर होमटाउन ही होता है.
अगर किसी रियलिटी शो के आॅफर आये तो करना चाहेंगे?
नहीं मुझे फिलहाल डेली सोप करने में मजा आ रहा है.
अगर शूटिंग नहीं कर रहे होते तो उस वक्त क्या करना पसंद है.
मुझे क्रिकेट और फुटबॉल खेलना काफी पसंद है. 

No comments:

Post a Comment