My Blog List

20151126

कुछ खास है...कुछ बात है इन सभी में


बॉलीवुड की ऐसी कई हस्तियां हैं, जो अपनी पोषाक को लेकर बहुत विशिष्ट हैं और वे उनके बिना नहीं रह सकते, तो  कुछ हस्तियां ऐसी भी  हैं, जो कुछ लोगों को और खुद से जुड़ी कुछ चीजों को अपनी जिंदगी में बहुत अधिक महत्व देते हैं. वे उनके बिना कहीं भी नहीं जाते. पेश है ऐसी कुछ हस्तियां और उनसे जुड़े कुछ ऐसे लोग, उनके स्टाइल स्टेटमेंट व उनसे जुड़ी कुछ खास चीजों पर  अनुप्रिया की रिपोर्ट

 महेश भट्ट
महेश भट्ट हिंदी फिल्म इंडस्ट्री के बड़े व नामचीन निर्देशकों में से एक हैं, जिन्होंने अपनी एक अलग पहचान बनायी.  वर्तमान दौर में उनकी फिल्मों में भले ही ग्लैमर का तड़का नजर आता रहे. लेकिन हकीकत यही है कि निजी जिंदगी में महेश भट्ट अपने पैसे किताबों व फिल्मों में खर्च करते हैं. वे खुद सामान्य सा लुक रखने में ही विश्वास रखते हैं. भले  ही उनकी फिल्मों की पार्टियां हों या फिर वे किसी दूसरे के घर निमंत्रण पर जायें. वे अपनी हवाई चप्पलों में ही नजर आते हैं. वे कभी भी जूते या भारी भरकम बूटस में नजर नहीं आते. उनकी बेटी आलिया को अपने पिता का यह बिंदास स्टाइल बेहद पसंद है और वह कहती हैं कि उनके पिता इस स्टाइल में भी काफी हैंडसम नजर आते हैं और उन्हें इस बात से कोई परेशानी नहीं है. हालांकि आलिया ने अपनी पहली सैलरी से महेश भट्ट को एक खूबसूरत जूतों की जोड़ियां गिफ्ट की थी और वे चाहती हैं कि उनके पिता इसे पहने. लेकिन अब तक उनकी यह इच्छा पूरी नहीं हुई है. महेश भट्ट जूते क्यों नहीं पहनते. इसके पीछे क्या राज है. यह आज तक उन्होंने कभी किसी से शेयर नहीं किया है.
अब्बास मस्तान
अब्बास मस्तान हमेशा सफेद कपड़ों में ही नजर आते हैं. अब्बास मस्तान बताते हैं कि वे स्कूल के दिनों में स्कूल यूनिफॉर्म के रूप में सफेद कपड़े पहनते थे. उसके बाद से उन्होंने कभी यह महसूस ही नहीं किया कि उन्हें इस रंग को बदलने की जरूरत है. वे बताते हैं कि उनके घर का रंग भी हमेशा सफेद रहा है. लेकिन उनकी फिल्में ग्लॉसी होती हैं. इसलिए वे पहनावे में सादगी रखना चाहते हैं. उन्हें जिंदगी में भी शांति और सादगी रखना पसंद है. फिल्म बाजीगर के प्रीमियर के दौरान उन्होंने सूट पहनने की कोशिश भी की थी. लेकिन फिर उनमें वे असहज महसूस करने लगे तो उन्होंने कहा कि अब वे कभी भी कोई और कपड़े नहीं पहनेंगे.
गुलजार
गुलजार साहब भी हमेशा सफेद कुर्ते पायजामे में ही नजर आते हैं. इसके पीछे क्या वजह है, यह उन्होंने आज तक स्पष्ट नहीं किया. लेकिन वे बस इतना ही कहते हैं कि उन्हें कॉलेज के जमाने से ही इस रंग से प्यार हो गया था. खास बात यह है कि वे कुर्ते के साथ कभी पायजामा नहीं सफेद ट्राउजर पहनते हैं.
विद्या बालन
विद्या बालन की कलाई पर गौर करें तो आपको हमेशा एक नजर कवच नजर आयेगा. यह नजर कवच वह खुद से कभी भी दूर नहीं करतीं. फिर चाहें उन्हें किसी भी समारोह का हिस्सा क्यों न बनना हो. वे मानती हैं कि यह ब्रासलेट उन्हें बुरी नजरों से बचाता है.और उन्हें इसे पहनने में कोई बुराई नजर नहीं आती.  साथ ही विद्या बालन एक खास तरह का काजल लगाती हैं. वह पाकिस्तानी ब्रांड हासमी लगाती हैं. वे इसे भी अपना लकी चार्म मानती हैं.
शाहिद कपूर
शाहिद कपूर के बारे में कम ही लोगों को यह जानकारी होगी कि शाहिद कपूर एक ऐसे व्यक्ति से बेहद करीब हैं, जिनसे उनका खून का रिश्ता नहीं है. लेकिन फिर भी अहम रिश्ता है. वे उन्हें मामू बुलाते हैं. मामू शाहिद का उस वक्त से ख्याल रख रहे हैं, जब वह बेहद छोटे थे. वे कपूर परिवार के अहम लोगों में से एक हैं. इसके अलावा शाहिद कभी भी खाते हुए तसवीरें नहीं लेते. वे इसे भी अनलकी मानते हैं इसलिए.
श्रद्धा कपूर
श्रद्धा कपूर को अपने  खास जूतों से बेहद प्यार है. वे उसे हमेशा अपने डांस रिहर्सल में पहनती हैं. फिल्म एबीसीडी 2 के दौरान भी उन्होंने उन जूतों को पहन कर ही रिहर्सल किया था. श्रद्धा उसे काफी लकी मानती हैं और जब भी डांस करती हैं तो वही जूतें पहन कर करती हैं.

No comments:

Post a Comment