My Blog List

20150915

आम आदमी वाली मेरी क्वालिटी लोगों से मुझे जोड़ती हैं : कपिल शर्मा


कॉमेडी नाइट्स विद् कपिल से घर घर का परिचित चेहरा बन चुके कपिल शर्मा जल्द ही फिल्म किस किस से प्यार करूं में बतौर अभिनेता अपनी नयी पारी की शुरुआत करने जा रहे हैं. वह अपनी इस नयी पारी को लेकर उत्साहित हैं. 

किस तरह से किस किस को प्यार करूं फिल्म से जुड़ना हुआ
अनुकल्प मेरे कॉमेडी शो कॉमेडी नाइट्स विद् कपिल में लेखक हैं. एक बार उन्होंने मुझे इस फिल्म की वनलाइनर कहानी डिस्कस की थी कि एक आदमी जिसकी तीन बीवियां हैं और एक गर्लफ्रेंड भी हैं. कैसे उसकी हालत होती है. मुझे कहानी अपीलिंग लगी. मुझे लगा कि अब तक सिर्फ दो बीवियों की ही कहानी को दिखाया गया है. मैंने अनुकल्प को कहा कि मैं इस फिल्म से जुड़ना चाहूंगा. उसने कहा कि उसने अब्बास मस्तान को इस फिल्म की कहानी दी है.उसके बाद उनसे मेरी मुलाकात हुई. उन्होंने कहा कि मेरे सिवाए वह इस फिल्म में किसी और कास्ट नहीं करेंगे. भले ही उन्हें कितना भी लंबे वक्त का इंतजार करना पड़े. जिसके बाद मैं इस फिल्म से जुड़ा. 

आप अपने शो कॉमेडी विद् कपिल में क्रिएटिवली भी जुड़े हैं इस फिल्म में भी क्या क्रिएटिवली तौर पर आप जुड़े हैं. 
अब्बास मस्तान सर ने मेरा चयन ही इसी वजह से किया है कि मैं फिल्म में अपने क्रिएटिव इनपुट्स दे सकूं. सिर्फ कपड़े पहनकर एक्टिंग करना मेरा काम भर नहीं है. इस फिल्म में कॉमिक सिचुएशन से लेकर इमोशनल सिचुएशन तक सभी में मैंने अपने इनपुट्स दिए हैं. जिंहे अब्बास मस्तान सर ने माना भी है. मेरी कॉमेडी अच्छी है यह सभी जानते हैं इसलिए कॉमिक सिचुएशन पर मेरे इनपुट्स काम आ जाएंगे. मैं जानता था लेकिन फिल्म के क्लाइमेक्स में एक इमोशनल सीन भी हैं. जिस पर मैंने अपनी राय दी कि इसे ऐसा करते तो बहुत अच्छा होता था. अब्बास मस्तान सर ने मेरी बात मान ली. 

आप यशराज बैनर की फिल्म से लांच होने वाले थे क्या इस बात का दुख है. 
मुझे दुख नहीं है. मुझे यशराज बैनर की फिल्म मेरे कॉमेडी नाइट्स विद् कपिल की वजह से मिली थी.   मैंने उन्हें एप्रोच नहीं किया था. हां चीजें नहीं बनी. वहां कॉरपोरेट कल्चर की तरह काम होता है. ९० पेज की डील होती है. हर दूसरे पन्ने पर साइन करना होता है. अब्बास मस्तान के साथ घर वाली बात है. कोई कॉट्रेक्ट साइन नहीं हुआ है. मैं उनकी अगली फिल्म भी कर रहा हूं. आप मेरे खुद के आॅफिस में भी आओगे तो देखोगे कि वहां दूसरे प्रोडक्शन हाउस की तरह नहीं है. पूरा घर जैसा माहौल है. कोई जमीन पर लेटा हुआ दाल चावल खा रहा है तो कोई मेरे कुत्ते के साथ लेट हुआ है. उसी में काम भी हो रहा है कि फलां सीन पर क्या करना है. क्या नहीं. मुझे घरेलू माहौल में काम करने की आदत है. 

 स्टैंडअप कॉमेडी और एक्टिंग में कितना फर्क पाते हैं. 
फर्क है बहुत.एक्टिंग में आपको सारे इमोशन को जिंदा करना पड़ता है. आपको कॉमेडी, इमोशन, रोमांस सभी कुछ दिखाना पड़ता है . वैसे मैं पंजाब में थिएटर से बहुत लंबे समय से जुड़ा था. एक एक्टर के तौर पर भी मैंने खुद को बहुत मांजा है. 

 कॉमेडी बिलो द बेल्ट की बात आपको पसंद नहीं है लेकिन आपके शोज पर यह इल्जाम लगता है कि आप दूसरों का मजाक ज्यादा बनाते हैं. 
मैं अपना भी मजाक बनाता हूं. मजाक की शुरुआत मुझसे ही होती है. अगर मैं दूसरों का मजाक बनाता तो मेरे शो में सेलिब्रिटी बार बार नहीं आते. मैं सभी की रिसपेक्ट भी बहुत करता हूं. जहां तक आॅडियंस की बात है तो वह मेरे परिवार की तरह हो गयी है. देश विदेश से लोग इस शो का हिस्सा बनना चाहते हैं. पूरे परिवार के साथ. आप कैमरा आॅफ होने के बाद देखते नहीं हो लेकिन आइए मेरे सेट पर आपको मालूम पड़ेगा कि जो आॅडियंस आती है वह मुझे अपने परिवार का ही सदस्य मानती हैं. यही वजह है कि फोटो खींचवाते हुए वह मुझसे पूछती नहीं है बल्कि मेरे गले में हाथ डालकर सब शुरु हो जाते हैं. 

क्या वजह है जो आपसे लोग इतना कनेक्ट होते हैं और कॉमेडी इस दौर में कॉमेडी नाइट्स विद कपिल ने क्या बदलाव लाया है. 
मुझे लगता है कि मेरे आम आदमी वाली जो क्वालिटी है. वहीं लोगों को मुझसे आराम से जोड़ देती हैं. उन्हें मैं उनके बीच का लगता हूं. जहां तक बात बदलाव की है तो कॉमेडी नाइट्स विद् कपिल ने परिवार को जोड़ा है. यह ऐसा शो है जिसे पूरा परिवार एक साथ देखना पसंद करता है. 

अपनी अब तक की जर्नी को कैसे देखते हैं. 
मैं किस्मत का खुद को धनी मानता हूं. मैंने तो ज्यादा कुछ सोचा नहीं था. मैं बस चाहता था कि लाफ्टर चैलेंज के आॅडिशन में मैं सलेक्ट हो जाऊं बस  लेकिन फिर काम मिलता चला गया. आप रहते रहते और ज्यादा सीख लेते हैं. मैं भी जब कई कॉमेडी शो से जुड़ा तो मैंने पाया कि मैं भी अपना एक अलग शो कर सकता हूं क्योंकि लोग जब मुझे अपने शो में बुलाते थे तो मेरा दस मिनट होता था उसके बाद के २० मिनट उनके होते थे. उसमे कॉमेडी बिलो द बेल्ट चली जाती थी. मुझे वह पसंद नहीं थी लेकिन मेरा भी नाम जुड़ जाता था इसलिए मैंने अपना शो लाने का मन बनाया. कईयों ने कहा कि नहीं चल पाएगा लेकिन मैंने कोशिश की और कोशिश रंग लायी.

सेलिब्रिटी होने का सबसे बड़ा खामियाजा क्या है. 
आपको हमेशा खूबसूरत दिखना पड़ता है. हमेशा अच्छे कपड़े पहनने पड़ते हैं. एक कपड़े को आप रिपिट नहीं कर सकते हैं. मेरी मां कहती हैं कि यह तो पैसों की बर्बादी हैं. वह पंजाब के छोटे से पिंड से हैं इसलिए उन्हें ज्यादा पता नहीं कि यह इंडस्ट्री कैसे चलती हैं. वैसे मेरी मां मेरी कॉमेडी नाइट्स विद् कपिल के हर शो में होती हैं. मैं उन्हें भी कहता हूं कि वह कपड़े न रिपिट करें लेकिन वह नहीं मानती हैं. मैं अपनी मां के बहुत क्लोज हूं. सेलिब्रिटी होने के लिए मुझे अपना गांव छोड़ना पड़ा. जिसे मैं बहुत ही ज्यादा मिस करता हूं. 

अक्सर खबरें आती रहती हैं कि कॉमेडी नाइट्स विद कपिल आॅफ एयर होने वाला है. 
नहीं होगा. जब तक लोग पसंद करते रहेंगे और जब तक मैं खुद बोर नहीं हो जाऊंगा. मैं इस शो से जुड़ा रहूंगा. 

आपकी आनेवाली फिल्में 
इस फिल्म के बाद अब्बास मस्तान सर की एक फिल्म का हिस्सा हूं. इसके अलावा एक और फिल्म पर बातचीत चल रही हैं लेकिन कुछ कहना जल्दीबाजी होगी. 

No comments:

Post a Comment