My Blog List

20150905

9 से 5 की नौकरी कभी नहीं करना चाहती थी : विनिता जोशी


स्टार प्लस पर प्रसारित हो रहे धारावाहिक मोही में लीड किरदार निभा रहीं विनिता जोशी बेहद खुश हैं कि उन्हें ऐसा बेहतरीन किरदार निभाने का आॅनस्क्रीन मौका मिला है.

विनिता, मोही शो की लीड किरदार को लेकर काफी विवाद रहे. कई बार चेहरे बदले. अब जाकर आप इस शो का हिस्सा हैं? इस पर आपकी क्या प्रतिक्रिया हैं?
मैं तो उन सबको थैंक्स कहना चाहूंगी, जिन्होंने यह आॅफर नहीं स्वीकारा क्योंकि यह इतना बेहतरीन किरदार है जिसने मेरे करियर को नयी ऊंचाई दी है और मुझे इस बात की खुशी है कि दर्शकों को मेरा यह किरदार पसंद आ रहा है. मेरी पूरी कोशिश रहेगी कि मैं अपना 100 प्रतिशत दूं. और मुझे यकीन है कि मेरे बाकी किरदारों की तरह दर्शक इसे भी स्वीकार रहे हैं.
मोही में लीड किरदार निभाने का मौका कैसे मिला?
मेरे लिए यह किसी सपने के पूरे होने जैसा ही था. मोही की टीम ने मेरा आॅडिशन लिया और उसी दिन मुझे शाम में केरल शूटिंग करने के लिए भेज दिया गया. सो मैं मानती हूं कि यह मेरे लिए किसी ड्रीम रोल से कम नहीं है.
लेकिन इस शो को शाम के पांच बजे का स्लॉट मिला है. आपको लगता है कि इसे अच्छे दर्शक मिल पायेंगे या मिल रहे हैं?
मुझे लगता है कि स्टार प्लस ही एकमात्र ऐसा चैनल है जो नये स्लॉट गढ़ता है. स्टार प्लस ने ही सबसे पहले 7 बजे का स्लॉट शुरू किया और उस वक्त साथिया शो आ रहा था. सबको लग रहा था कि पता नहीं शो को टीआरपी मिलेगी कि नहीं. लेकिन आज वह टीवी का नंबर वन शो है. इसके बाद धीरे धीरे 6.30. 6 बजे, 5.30 बजे भी स्टार प्लस नये शोज लेकर आता है और यह इस चैनल की खास बात है. मुझे लगता है कि धीरे धीरे लोग 5 बजे के स्लॉट को भी पसंद करने लगेंगे. और फिलहाल हमें अच्छी रेटिंग मिल रही है.
आप इस शो में एक आदिवासी लड़की का किरदार निभा रही हैं. तो क्या आप वास्तविक जिंदगी में कभी किसी ऐसी लड़की से मिलीं, किरदार के लिए होम वर्क करने के दौरान?
नहीं लड़की से तो नहीं मिली. लेकिन हम जहां केरल के गांवों में इस शो की शूटिंग कर रहे थे. वहां हम काफी लोगों से मिले और हमने काफी रिसर्च किया है. उनके साथ काफी दिन हम रहे. उनके तौर तरीके. बातचीत के लहेजे, उनके रहन सहन को समझने की कोशिश की है और साथ ही वहां के ऐसे गांवों की मजबूरियों को समझने की कोशिश की, जहां वाकई आज भी बिजली, पानी की पहुंच नहीं है.लेकिन फिर भी लोग अपनी जिंदगी जी रहे हैं और खुशी से जी रहे हैं. आप जब इस तरह की जिंदगी नजदीक से देखते हैं तो आप महसूस करने लगते हैं कि हम ग्लैमर की जिंदगी में कितने ऐशो आराम से हैं और वही दूसरी तरफ  कई जिंदगियां ऐसी भी हैं, जहां लोग पानी बिजली को तरस जाते हैं. तो उनकी परेशानियों को समझ कर अपने अभिनय में इंप्रोवाइज किया है.  इसके अलावा मैंने शो के लिए फॉर्मल ट्रेनिंग ली. भाषा की ट्रेनिंग ली. साथ ही फिजिकल ट्रेनिंग भी ली है.
शो में आप एक डॉक्टर बनना चाहती हैं. तो वास्तविक जिंदगी में आपने कभी ऐसी इच्छा हुई कि आपको भी डॉक्टर बनना चाहिए?
नहीं बिल्कुल नहीं. मैं शुरू से पढ़ाई में इतनी भी तेज नहीं रही कि मुझे डॉक्टर बनने की इच्छा रहे. लेकिन हां, मैं हमेशा से जो करना चाहती थी. कर रही हूं. मुझे हमेशा मेरे परिवार से सपोर्ट मिला है. मेरे पेरेंट्स का बस इतना कहना था कि तुम अपनी पढ़ाई पूरी कर लो. फिर तुम्हें जो भी करना है. हमें कोई दिक्कत नहीं तो मैंने भी अपने पेरेंट्स की सोच का पूरा ख्याल रखा और पढ़ाई पूरी करके ही मैं इस फील्ड में आयी हूं. मैंने ग्रेजुएशन की पढ़ाई पूरी करने के बाद ही एक्टिंग की तरफ रुख किया.
अब तक के अपने सफर को किस तरह देखती हैं?
मैं तो बेहद खुश हूं कि मुझे उम्मीद से अधिक काम मिल रहा है. स्टार प्लस के साथ ही मेरे रिश्ते हमेशा खास रहे हैं. मैंने इनके पहले भी शोज में काम किया है. मुझे लगातार अच्छे लोगों के साथ काम करने के मौके मिल रहे हैं और यही मेरे लिए खास बात है. मैं अपने सफर से बेहद खुश हूं. मेहनत तो हर किसी को करनी होती है. मैं भी कर रही हूं. लेकिन कम समय में आपको अगर नये मौके मिल रहे हैं.  लीड किरदार निभाने के मौके मिल रहे हैं. यही बड़ी बात है मेरे लिए. मैं कभी भी 9 टू फाइव जॉब नहीं करना चाहती थी और अभिनय ने मुझे वह मौका दिया है. इसलिए मैं अपने काम से बहुत संतुष्ट हूं.

No comments:

Post a Comment