My Blog List

20140218

टीवी में जाने का कोई ईरादा नहीं : सनाया


कलर्स के नये शो रंगरसिया में सनाया ईरानी अलग अंदाज में हैं. वे इस शो को लेकर काफी उत्साहित हैं. दर्शकों से उन्हें अच्छी प्रतिक्रिया मिल रही है.

 सनाया आप टेलीविजन की बड़ी हस्ती हैं.  तो ऐसे में रंगरसिया जैसे शो से क्या उम्मीदें हैं?
 मैं ऐसे सिर पर कोई जिम्मेदारी का पहाड़ लेकर नहीं घूमती. कांसेप्ट अच्छा है. आप शो देख रहे होंगे कि आमतौर पर चलने वाले शो से किस तरह से अलग है. धीरे धीरे जैसे लोग देखेंगे. उन्हें शो काफी पसंद आयेगा ही.
 लेकिन आपका पिछला शो छनछन खास लोकप्रिय नहीं हो पाया तो ऐसे में नये शो करते वक्त क्या सावधानियां रखती हैं आप?
मैं नहीं मानती कि किसी शो के फ्लॉप होने का पूरा कारण शो के किरदार होते हैं. छोटे परदे पर चेहरे से ज्यादा कहानियां वर्क करती हैं. हो सकता है कि मैंने जो सोच कर वह शो किया था. शायद लोग वैसा नहीं सोचते होंगे. लेकिन मुझे इससे फर्क नहीं पड़ता. मैं वैसे किरदारों को निभाना चाहती हूं. जो मैंने अब तक नहीं निभाया है. छनछन करने के बाद एक बात तो समझ ली है कि क्या करना है और क्या नहीं.
पारो के किरदार के बारे में बताएं?
मैंने इससे पहले ऐसा किरदार नहीं निभाया है. यह इस प्यार का नाम दूं से अलग किरदार है. और मुझे लगता है कि मैं रुरल किरदार पहली बार निभा रही हूं. सो, मैंने काफी मेहनत भी की है.
रंगरसिया के किरदार से खुद को किस तरह जोड़ पाती हैं?
मैं रंगरसिया के किरदार से बिल्कुल अलग हूं और यही वजह है कि मैंने यह शो आॅप्ट किया है. मैं वाकई काफी काम करके आती हूं सेट पर. खासतौर से राजस्थान में जिस तरह की हिंदी और भाषा का प्रयोग किया जाता है. मैं वैसी भाषा नहीं बोल पाती तो मैंने काफी मेहनत की है. उसे सीखने में. वैसे मेरे निर्देशक सिद्धार्थ सेन गुप्ता ने मुझे काफी कुछ सिखाया है.
रंगरसिया के विषय को क्यों चुना?
एक तो बड़ी वजह यह है कि मुझे मधुबाला शो काफी पसंद है और वह इसी प्रोडक् शन हाउस का शो है. मुझे लगता है कि इस प्रोडक् शन में हर कोई अपने काम को लेकर काफी जूझारू है खासतौर से सौरभ तिवारी. टेलीविजन पर कम शोज हैं, जिसने मधुबाला जैसे कांसेप्ट को ऊंचाईयां दी है तो मुझे इससे पूरी उम्मीद है.
आशीष के साथ आपकी केमेस्ट्री किस तरह की है?
आशीष काफी टैलेंटेड हैं और उन्होंने तो फिल्मों में भी काम किया है. जब मैं पहले दिन उनके साथ लुक टेस्ट दे रही थी तो मुझे लगा कि वह ही मेरे इस शो का हिस्सा बनें. इंडस्ट्री में ऐसी अनयुजल सी जोड़ी लंबे सम के बाद देखी जायेगी. आशीष अपने किरदार को लेकर काफी सीरियर रहते हैं और मैं भी. इसलिए मुझे उनके साथ काम करके मजा आ रहा है.
आप और मोहित नच बलिये जैसे शो का हिस्सा क्यों नहीं बनते? 
मोहित और मुझे दोनों को ही इस तरह के शोज पसंद नहीं है. मैं एक्टर हूं और मुझे लगता है कि मैं एक्टिंग ही सही तरीके से कर पाऊंगी.सो, मैं उसे ही करते रहना चाहती हूं.
फिल्मों में जाने की चाहत है?
बिल्कुल नहीं. मैं टीवी में बेहद खुश हूं.
जब कुछ नहीं करतीं. उस वक्त क्या करती हैं आप?
मुझे खाना और घूमना पसंद है और अपने दोस्तों के साथ वक्त बिताना पसंद है.
लोगों का कहना है कि अबआपमें और द्रष्टि धामी जो कि आपकी बेस्ट फ्रेंड हैं. दोनों में प्रतियोगिता शुरू हो जायेगी.
मुझे पता नहीं लोग ऐसा क्यों कह रहे. मधुबाला अलग वक्त पर दिखाई जाती है. मेरे शो की टाइमिंग अलग है. हम दोनों दोस्त मिल कर धमाल मचायेंगे. 

No comments:

Post a Comment