My Blog List

20140218

अमृता राव नहीं बनना : प्रीतिका राव


प्रीतिका राव के लिए टेलीविजन की दुनिया नयी है. लेकिन उन्होंने साउथ की फिल्म में कई फिल्में की हैं. प्रीतिका चाहती हैं कि लोग उन्हें अभिनेत्री के रूप में स्वीकारें. प्रीतिका अमृता राव की बहन हैं. लेकिन वह अपनी पहचान अलग हट कर बनाना चाहती हैं. जल्द ही कलर्स के शो बेइतहां से वह छोटे परदे पर नयी शुरुआत कर रही हैं.
 प्रीतिका, अचानक फिल्मों से टीवी पर आने के बारे में क्यों सोचा?
मैंने साउथ की फिल्मों में काम किया है और हर अभिनेत्री का सपना होता है कि उसे बड़े परदे पर ज्यादा मौके मिले. लेकिन मेरा मानना है कि छोटे परदे पर आपकी पहचान जल्दी बन जाती है अगर आप सही तरीके से मेहनत कर रहे हैं तो.फिल्मों में कई साल लग जाते हैं. लेकिन टेलीविजन अपने हुनर को दिखाने का सही माध्यम है और यही वजह है कि मैंने टेलीविजन के लिए हामी भरी. मुझे मॉडलिंग करना पसंद था. लेकिन मुझे लगा कि कुछ सालों के बाद सिर्फ उसमें मोनोटोनस लाइफ हो गयी है तो फिर मैंने कुछ अलग करने के बारे में सोचा.
आप अमृता राव की बहन हैं तो निश्चित तौर पर आपकी तूलना आपकी बहन से की जायेगी? क्या आप तैयार हैं?
जी हां, बिल्कुल. खुद मैं कई सालों से यही करती आ रही हूं. मैं भी आमिर खान से इमरान खान की तूलना और परिवार में जो पहले से स्थापित है, उसके परिवार से कोई और आये तो उसकी तूलना करती आयी हूं तो मेरे साथ भी ऐसा होगा ही और मुझे इस बात से कोई परेशानी नहीं है. अमृता ने पहले ही यह सब बताया था और मैं खुद फिल्म जर्नलिस्ट रह चुकी हंू . जानती हूं कि क्या क्या चीजें हो सकती हैं. किस तरह की बातें बनेंगी. लेकिन मैं हर तरह से इन सभी बातों के लिए तैयार हूं.
आप खुद फिल्म जर्नलिस्ट रही हैं और फिर अब आपके बारे में ही तरह तरह की खबरें प्रकाशित होंगी. इसके लिए किस तरह तैयार हैं आप?
जैसा कि मैंने कहा कि मैं फिल्म जर्नलिस्ट हूं तो जानती हूं कि खबरें कैसे बनती हैं और उनका कितना असर होता है. सो, सारे कदम सोच समझ कर ही लूंगी और कोशिश होगी कि जो हूं और जो सच है. वही बातें प्रकाशित हों.
आपकी और अमृता की बांडिंग कैसी है?
बहुत अच्छी. वह अच्छी दोस्त हैं और गाइड भी. मुझे काफी चीजें बताती रहती हैं. बचपन में अमृता काफी शैतान थी. स्कूल में भी. लेकिन हम दोनों ही बहनें काफी मस्ती भी किया करते थे.उसका सपोर्ट मुझे हमेशा मिलता है. कोई भी प्रोजेक्ट करने से पहले मैं उनसे सलाह लेती हूं. आखिर वह मुझे फील्ड में भी सीनियर हैं तो इन बातों का ख्याल रखती ही हूं.
साउथ इंडस्ट्री में काम करने के दौरान अभिनय के क्षेत्र में क्या क्या सीखा?
मेरे लिए साइथ इंडस्ट्री एक तरह से ट्रेनिंग इंस्टीटयूट की तरह रहा. वहां काफी कुछ सीखा. बारीकी सीखी. वह इंडस्ट्री भी काफी पॉपुलर है तो लोग धीरे धीरे जानने लगे थे मुझे. मैंने वहां मनमुताबिक कई तरह के काम किये सो मुझे काफी मजा आया.
अमृता की कौन कौन सी फिल्में आपको पसंद है? अगर आपको अपनी बहन की फिल्मों के किरदार निभाने के मौके मिले तो क्या आप निभायेंगी.
मुझे उनकी विवाह, वेलकम टू सज्जनपुर और मैं हूं न पसंद है. लेकिन जहां तक बात है अमृता के किरदार निभाने की तो मैं नेक्सट अमृता नहीं बनना चाहूंगी. मैं अपनी पहचान खुद बनाना चाहती हूं. अगर कभी कोई मुझे उनकी फीलर के रूप में इस्तेमाल करना चाहेगा तो मैं नहीं करूंगी.
जब वक्त मिलता है तो क्या करना पसंद करती हैं?
मुझे पढ़ना लिखना पसंद है और सबसे ज्यादा टीवी देखना पसंद है. तभी तो फिल्म जर्नलिस्ट थी मैं.
बेइतहां में आपका किरदार किस तरह का है?
एक मुसलिम लड़की का किरदार है, जो हालातों से मजबूर है. लेकिन फिर उसकी जिंदगी किस तरह मोड़ लेती है. यह शो इसी थीम पर आधारित है.

No comments:

Post a Comment