My Blog List

20130513

गिप्पी करेगी टीनएज की यादें ताजा


रि या विज के लिए यह पहला मौका है. वह बडे. परदे पर बबली-सा किरदार निभाने जा रही हैं.

यूं ही दे दिया था ऑडिशन

मैं दिल्ली की रहनेवाली हूं और मैंने ऐसा कभी भी नहीं सोचा था कि मुझे किसी फिल्म में इतना बड.ा किरदार निभाने का मौका मिलेगा. सोनम और गिप्पी की टीम हमारे स्कूल में ऑडिशन के लिए आयी थी. लेकिन हमारी प्रिंसिपल ने उन्हें स्कूल में ऑडिशन नहीं करने दिया. फिर सोनम और उनकी टीम ने मेरी मम्मी से बात की और मम्मी के कारण ही मैं और मेरे कुछ दोस्त ऑडिशन के लिए पहुंचे. वहां और भी कई बच्चे थे. लेकिन मैं किस्मतवाली हूं कि मुझे चुना गया. शुरू शुरू में डर लगा था, चूंकि कभी कैमरा फेस नहीं किया था. लेकिन सोनम ने सारी चीजें सिखायीं.

गिप्पी का किरदार

मुझे लगता है कि गिप्पी का जो किरदार है, वह हर किसी को उसके टीनएज की याद दिलायेगी. चूंकि गिप्पी का किरदार निप्रभाते हुए मुझे बार-बार लगा कि मैं रियल लाइफ की रिया ही प्ले कर रही हूं. हम सभी सोचते हैं कि हम हमेशा परफेक्ट हों. मैं खुद चाहती हूं कि मैं करीना कपूर की तरह दिखूं. लेकिन सच तो यह है कि हम सभी तो हीरोइन नहीं बन सकते. गिप्पी की कहानी एक ऐसी लड.की की कहानी है जो हर किसी को खुद से कनेक्ट करेगी. गिप्पी की मासूमियत आपको पसंद आयेगी. मुझे जब पता चला कि करन जाैहर स्क्रिप्ट पढ.ने के बाद रो पडे. थे क्योंकि उनके बचपन की कहानी भी कुछ ऐसी ही थी. वे भी थोडे. मोटे थे, तो मुझे लगा कि लगभग हर किसी की कहानी एक-सी ही होती है. पूरी दुनिया में केवल 9 से 10 प्रतिशत लोग ही होते हैं जो परफेक्ट होते हैं. मुझे लगता है कि यह फिल्म सबको अपनी-सी लगेगी.

एक्शन फिल्में पसंद हैं

मुझे हिंदी फिल्में कम पसंद हैं. लेकिन मैं अंगरेजी फिल्में बहुत देखती हूं. खासतौर से एक्शन फिल्मों से मुझे बेहद प्यार है. लेकिन मैं करन की फिल्में देखती हूं. जो लव स्टोरी होती है. जब मुझे पता चला कि मुझे करन जाैहर की फिल्म में काम करने का मौका मिल रहा है, तो मुझे उनकी फिल्म ‘कुछ कुछ होता है’ याद आ गयी. ये मेरी फेवरिट लव स्टोरी है. अब इसके निर्देशक की फिल्म में मैं काम करूंगी यह सुनकर मैं बेहद खुश हो गयी थी.

किरदार की तैयारी

सोनम ने मुझसे कहा था कि फिल्म में गिप्पी का जैसा किरदार है, उसकी एक खास बात यह है कि वह पंजाबी लड.की है, सो मुझे वजन पुटऑन करना पड.ा था. मैं जम कर खाया करती थी. लगभग 45 दिनों का शूट था और हम शिमला गये थे. जहां हमने खूब मस्ती भी की. सोनम ने एक बात का ख्याल और रखा था कि मेरे एग्जाम ओवर होने के बाद ही फिल्म की शूटिंग का टाइम रखा. मैं एग्जाम खत्म होने के बाद इस किरदार की तैयारी में जुटी थी. मुझे सोनम ने सेट पर बहन जैसा प्यार दिया और उन्होंने मुझसे कहा कि मेरी सबसे अच्छी बात उन्हें ये लगी थी कि मैं नैचुरल एक्टर हूं.रि या विज के लिए यह पहला मौका है. वह बडे. परदे पर बबली-सा किरदार निभाने जा रही हैं.

यूं ही दे दिया था ऑडिशन

मैं दिल्ली की रहनेवाली हूं और मैंने ऐसा कभी भी नहीं सोचा था कि मुझे किसी फिल्म में इतना बड.ा किरदार निभाने का मौका मिलेगा. सोनम और गिप्पी की टीम हमारे स्कूल में ऑडिशन के लिए आयी थी. लेकिन हमारी प्रिंसिपल ने उन्हें स्कूल में ऑडिशन नहीं करने दिया. फिर सोनम और उनकी टीम ने मेरी मम्मी से बात की और मम्मी के कारण ही मैं और मेरे कुछ दोस्त ऑडिशन के लिए पहुंचे. वहां और भी कई बच्चे थे. लेकिन मैं किस्मतवाली हूं कि मुझे चुना गया. शुरू शुरू में डर लगा था, चूंकि कभी कैमरा फेस नहीं किया था. लेकिन सोनम ने सारी चीजें सिखायीं.

गिप्पी का किरदार

मुझे लगता है कि गिप्पी का जो किरदार है, वह हर किसी को उसके टीनएज की याद दिलायेगी. चूंकि गिप्पी का किरदार निप्रभाते हुए मुझे बार-बार लगा कि मैं रियल लाइफ की रिया ही प्ले कर रही हूं. हम सभी सोचते हैं कि हम हमेशा परफेक्ट हों. मैं खुद चाहती हूं कि मैं करीना कपूर की तरह दिखूं. लेकिन सच तो यह है कि हम सभी तो हीरोइन नहीं बन सकते. गिप्पी की कहानी एक ऐसी लड.की की कहानी है जो हर किसी को खुद से कनेक्ट करेगी. गिप्पी की मासूमियत आपको पसंद आयेगी. मुझे जब पता चला कि करन जाैहर स्क्रिप्ट पढ.ने के बाद रो पडे. थे क्योंकि उनके बचपन की कहानी भी कुछ ऐसी ही थी. वे भी थोडे. मोटे थे, तो मुझे लगा कि लगभग हर किसी की कहानी एक-सी ही होती है. पूरी दुनिया में केवल 9 से 10 प्रतिशत लोग ही होते हैं जो परफेक्ट होते हैं. मुझे लगता है कि यह फिल्म सबको अपनी-सी लगेगी.

एक्शन फिल्में पसंद हैं

मुझे हिंदी फिल्में कम पसंद हैं. लेकिन मैं अंगरेजी फिल्में बहुत देखती हूं. खासतौर से एक्शन फिल्मों से मुझे बेहद प्यार है. लेकिन मैं करन की फिल्में देखती हूं. जो लव स्टोरी होती है. जब मुझे पता चला कि मुझे करन जाैहर की फिल्म में काम करने का मौका मिल रहा है, तो मुझे उनकी फिल्म ‘कुछ कुछ होता है’ याद आ गयी. ये मेरी फेवरिट लव स्टोरी है. अब इसके निर्देशक की फिल्म में मैं काम करूंगी यह सुनकर मैं बेहद खुश हो गयी थी.

किरदार की तैयारी

सोनम ने मुझसे कहा था कि फिल्म में गिप्पी का जैसा किरदार है, उसकी एक खास बात यह है कि वह पंजाबी लड.की है, सो मुझे वजन पुटऑन करना पड.ा था. मैं जम कर खाया करती थी. लगभग 45 दिनों का शूट था और हम शिमला गये थे. जहां हमने खूब मस्ती भी की. सोनम ने एक बात का ख्याल और रखा था कि मेरे एग्जाम ओवर होने के बाद ही फिल्म की शूटिंग का टाइम रखा. मैं एग्जाम खत्म होने के बाद इस किरदार की तैयारी में जुटी थी. मुझे सोनम ने सेट पर बहन जैसा प्यार दिया और उन्होंने मुझसे कहा कि मेरी सबसे अच्छी बात उन्हें ये लगी थी कि मैं नैचुरल एक्टर हूं.
     

No comments:

Post a Comment