My Blog List

20140910

परदे व निजी जिंदगी में स्टार्स पेरेंट्स


 काजोल की बेटी नयाशा को अपनी मां काजोल की फिल्में नापसंद हैं. वजह यह है कि उनकी मम्मी काजोल ने जिन फिल्मों में काम किया है. वे रोने धोने वाली फिल्में हैं. नयाशा ने वास्तविक जिंदगी में अपनी मां को देखा है कि वह कितनी खुशमिजाज हैं. वह हर वक्त मस्ती के मूड में रहती हैं. फिर फिल्मों में वे रोने धोने वाले रोल क्यों करती हैं. नयाशा की इच्छा है कि वह उनके पिता अजय देवगन के साथ गोलमाल जैसी फिल्में करें. अक्षय कुमार के बेटे आरव को अपने पिता की एक् शन फिल्में ही पसंद है. इसकी वजह साफ है कि आरव जानते हैं कि उनके पिता निजी जिंदगी में भी एक् शन प्रेमी हैं और अक्षय की वजह से ही आरव ने मार्शल आर्ट सीखा. शाहरुख के बेटे ने पिता की फिल्म चेन्नई एक्सप्रेस देखी. इसके बाद दीपिका पादुकोण ने जब पूछा कि उसे फिल्म कैसी लगी तो उन्होंने शाहरुख खान मार्के वाली ही फिल्म है. मसलन उनके बेटे भी इस बात से वाकिफ हैं कि शाहरुख खान की फिल्में कैसी फिल्में होंगी. खुद काजोल को अपनी मां की फिल्में पसंद नहीं आती थीं. दरअसल, एक कलाकार जब कैमरे के सामने होता तब भी और जब कैमरे के सामने नहीं होता तब भी किसी न किसी पात्र को ही जी रहा होता है. यह बहुत जाहिर सी बात है कि स्टार्स किड अपने पेरेंट्स को निजी जिंदगी में बखूबी जानते हैं. और चूंकि अभी उनकी उम्र बेहद कम होती है. वे उसी मां या पिता को परदे पर भी देखना चाहते हैं. चूंकि अभी वह किरदार और वास्तविक जिंदगी में फर्क करने की स्थिति में नहीं होते और वे निजी जिंदगी की छवि से ही परदे पर दिख रहे माता पिता की छवि को आंकने लगते हैं. यही वजह थी कि श्रद्धा कपूर के दोस्त यह समझ नहीं पाते थे कि उनके पिता शक्ति कपूर फिल्मों में विलेन हैं. वे श्रद्धा को इस बात से चिढ़ाते रहते थे और यह टिस उनके मन से कभी जा ही नहीं पाती.

No comments:

Post a Comment