My Blog List

20160129

अभिषेक के ओसमा


हाल ही में फिल्म तेरे बिन लादेन डेड और अलाइव के निर्देशक अभिषेक शर्मा और अभिनेता प्रद्युमन से बातचीत हुई. अमेरिका को लेकर अभिषेक का एक अलग ही दृष्टिकोण है. और वह अपनी सोच से चौंकाते हैं. वे मानते हैं कि अमेरिका एक देश नहीं बल्कि कई लोगों की धरती है. वह कई लोगों के समावेश से बना है. कई संस्कृति के समावेश से बना है. उन्हें यही वजह है कि अमेरिका काफी आकर्षित करता है. वे मानते हैं कि अमेरिका ने हॉलीवुड की फिल्में बना कर दुनिया में राज किया. भारत भी चाहता तो वह बॉलीवुड को उस स्तर पर ले जा सकता था. लेकिन यहां 70 के दशक के बाद बेहतरीन फिल्मों का निर्माण ही नहीं हो पाया है. आज भी लोग एंग्रीयंग मैन ही देखना चाहते हैं. लोग बॉलीवुड के नायक को स्टूपिड या बेवकूफ के रूप में नहीं देखना चाहते हैं. लेकिन उनकी फिल्म तेरे बिन लादेन का ओसामा जिसका किरदार प्रद्ुमन ही निभा रहे हैं. वे उसे बेवकूफ के रूप में ही दर्शाना चाहते हैं. चूंकि जो बेवकूफ है, वही स्मार्ट है. अभिषेक से बातचीत कर यह महसूस हुआ कि किसी निर्देशक ने खुद को किसी बंधन में बांध कर जवाब नहीं दिया. उन्होंने स्पष्ट रूप से बातें की  हैं और अमेरिका को लेकर, ओसामा को लेकर उनकी सोच कितनी स्पष्ट है. वे भले ही अपनी बातों को कहने के लिए सटायर फिल्मों का सहारा ले रहे हैं, लेकिन वे बिंदास तरीके से बेबाकी से अपनी बात रख रहे हैं. वे मानते हैं कि ओसामा ने अपनी यात्रा एक भले व्यक्ति की तरह की थी. उसने कई लोगों को भला किया है. लेकिन बाद में जाकर उसकी दिशा बदली और वही उसने अपने प्रति लोगों का प्यार खो दिया. प्रद्ुमन की ये बातें कि जब भी वे ओसामा को देखते हैं और उनकी आंखों को उन्होंने बार बार देखा है. वह खौफनाक हरगिज नहीं लगती. एक अलग ही दृष्टिकोण देती है हमारे नजरिये को. उम्मीदन फिल्म में वे इसलिए अपनी बातों में स्पष्ट हैं. 

No comments:

Post a Comment