My Blog List

20150420

सामाजिक कैंपेन व अभिनेत्री


विद्या बालन के शौच अभियान का एक बेहतरीन असर नजर आया. वाराणसी के भेलापुर इलाके में रहनेवाली एक महिला ने अपने पति का घर  इसलिए छोड़ दिया, क्योंकि उस घर में शौच की सुविधा उपलब्ध नहीं थी. विद्या बालन इस बात से खुश हैं कि उनका यह कैंपेन रंग ला रहा है. विद्या मानती हैं कि यह महिलाओं की प्राथमिक जरूरत है, जिसका ख्याल रखा जाना ही चाहिए. वे खुश हैं कि इस पर महिलाओं ने सोचना तो शुरू किया. कंगना रनौट एसिड से पीड़ित महिलाओं के लिए कार्यरत हैं. और उन्होंने अपनी तरफ से कई सेवाएं उपलब्ध कराई हैं. हाल ही में दीपिका पादुकोण ने अपने साथी होमी अदजानिया के साथ मिल कर एक वीडियो का निर्माण किया है. इस वीडियो में महिलाओं की आजादी को लेकर बात की गयी है. यह एक बेहतरीन सोच है कि महिला सेलिब्रिटिज अपने फिल्मों से इतर किसी कैंपेन का हिस्सा बन रही हैं. और इसकी सबसे खास बात यह है कि लोग जागरूक हो रहे हैं. वरना, महिला सेलिब्रिटिज अधिकतर अपनी फिल्मी प्रोमोशन के दौरान ही सिर्फ ऐसे कैं पेन से जुड़ती हैं. लेकिन दीपिका पादुकोण लगातार इस तरह के मुद्दों का हिस्सा बन रही हैं. इस सब के पीछे भले ही उनकी सोच मीडिया को और अधिक प्रभावित करने की हो. लेकिन फिर भी वे ऐसी चीजों में हिस्सा लेकर कई लड़कियों की प्रेरणा बन रही हैं. चूंकि ऐसे कई मुद्दे हैं, जिन पर लड़कियां बोल नहीं पातीं. उनके मन में एक डर होता है कि उन्हें कौन सहयोग देगा. कौन उनकी बातें सुनेगा. लेकिन जब सेलिब्रिटीज का साथ मिलता है तो उनके मन में संभावना की किरण जगती है कि वे अपनी बात अगर उन तक पहुंचायें तो बात बन सकती है. विद्या बालन, कंगना, दीपिका, प्रियंका चोपड़ा ऐसी सोच में कदमताल कर रही हैं. बेहतर हो कि अन्य अभिनेत्री भी ब्रांड एंडॉरसमेंट के साथ इस तरफ भी सोचें.

No comments:

Post a Comment