My Blog List

20131114

विद्या ही पहली और आखिरी पसंद : दीया मिर्जा



दीया मिर्जा ने अभिनय के साथ साथ अब फिल्म निर्माण में भी अपने कदम बढ़ा लिये हैं. यह सच है कि उन्हें अपनी पहली फिल्म लव ब्रेकअप जिंदगी से सफलता नहीं मिली. लेकिन वह अपनी दूसरी फिल्म बॉबी जासूस को लेकर काफी उत्साहित हैं. इस उत्साह की सबसे खास वजह यह है कि फिल्म में विद्या बालन मुख्य किरदार निभा रही हैं.

दीया, बॉबी जासूस का आइडिया जेहन में कैसे आया.
यह फिल्म मेरी फिल्म की लेखिका संयुक्ता चावला और फिल्म के निर्देशक समीर शेख  लेकर आये थे. उनके पास एक लाइन की कहानी थी और फिर उस वन लाइनर को हमने पूरी फिल्म का रूप दे दिया.
विद्या बालन को चुनने की खास वजह?
हां, विद्या बालन से मैं उनकी पहली फिल्म से जुड़ी हूं. परिणीता से लेकर लगे रहो मुन्नाभाई जैसी फिल्मों तक मैंने उनके साथ काम किया है. वे उन तमाम अभिनेत्रियों से अलग हैं. जो सफलता पाने के बाद दोस्तों को भूल जाती हैं. मैंने विद्या के लिए हर अवार्ड फंक् शन में तालियां बजायी हैं. मैं जानती हूं कि वह कितनी शानदार अभिनेत्री हैं. हिंदी सिनेमा में जब भी महिला प्रधान फिल्म की बात आयेगी. विद्या का नाम सबसे पहले आयेगा और खास बात यह है कि मैं लकी हूं कि विद्या ने मेरी स्क्रिप्ट को दो दिनों में हां कहा. जबकि वह हर बार कम से कम किसी भी स्क्रिप्ट को हां कहने में 6 महीने लेती है. यह मेरी खुशनसीबी है कि मैं अपनी दूसरी ही फिल्म में हिंदी सिनेमा की सर्वश्रेष्ठ अभिनेत्री के साथ काम कर रही हूं.
हिंदी फिल्मों में महिला जासूस को लेकर फिल्म नामात्र बनी हैं. ऐसे में बॉबी जासूस किस तरह अलग होगी.
बॉबी जासूस की कहानी एक ऐसी लड़की की कहानी है. जो डिटेक्टीव बनने का सपना देखती है. और वह सारे काम करती है जो एक डिटेक्टीव करते हैं. लेकिन हां, उसके सिर्फ कपड़ डिटेक्टीव की तरह नहीं हैं. हॉलीवुड में ऐसी फिल्में खूब बनी है. हमने अपनी इस फिल्म में खास ख्याल रखा है कि इसमें पूरा इंडियन टच हो. ताकि कोई ये न कह सके कि हमने चोरी की है कहीं से. दूसरी बात है. आम लड़की की कहानी होगी. विद्या ने इससे पहले ऐसा किरदार नहीं निभाया है. सो, वह भी इस फिल्म को लेकर काफी उत्साहित हैं.
आप फिल्मों को मिस नहीं करतीं?
हां, बिल्कुल करती हूं. हां, बुरा लगता है कि हर वक्त अभिनेत्री बनने के बाद प्रीटी प्रीटी लगना होता था. सेट ही घर होता था. हर वक्त लाइट कैमरा एक् शन के लिए तैयार होना होता था. उस वक्त ज्यादा चिंता नहीं होती थी. चूंकि मैं सिर्फ अभिनेत्री थी. अपने हिस्से का काम करके फिर वापस घर. अभी जिम्मेदारियां बढ़ी हैं. प्रोडक् शन का काम बहुत मेहनत का काम होता है. जब आप प्रोडक् शन में होते हैं तो दरअसल, आप निर्देशन ही कर रहे होते हैं. चूंकि प्रोडयूसर के रूप में आप क्रियेटिव रूप से भी जुड़े हैं और फिनाशियल रूप से. मैं लकी हूं कि साहिल मुझे पूरी तरह से सपोर्ट करते हैं. अच्छी चल रही है जिंदगी. मैं खुद बहुत हड़बड़ी में नहीं हूं. धीरे धीरे, प्यार से काम करना चाहती हूं. और पूरी उम्मीद है कि मुझे जल्द ही कामयाबी मिल जायेगी. साहिल और मैं साथ हैं तो काम करना आसान हो गया है.
आपकी पहली फिल्म को खास कामयाबी नहीं मिली. तो क्या कभी निराशा हुई कि अरे यार छोड़ो नहीं बनायेंगे फिल्म?
नहीं, ऐसा ख्याल तो कभी नहीं आया. मैं जब इस निर्माण कार्य से जुड़ी. तो इतने साल इंडस्ट्री में रहने के बाद पता है मुझे कि फिल्मों को लेकर किस तरह से सोचना होता है. हर फिल्म कामयाब हो जरूरी नहीं. हां, लव ब्रेकअप...हमने बहुत प्यार से बनाई थी. लेकिन कामयाबी नहीं मिल पायी तो अफसोस नहीं. हम नये हैं इस क्षेत्र में. सीखने में वक्त लगेगा. लेकिन सीख लेंगे. बॉबी जासूस अलग तरह की कहानी है और उम्मीद है कि दर्शकों को पसंद आयेगी.
हिंदी फिल्मों में अचानक भीड़ सी आ गयी है डिटेक्टीव फिल्मों को लेकर. कोई खास वजह?
मुझे लगता है कि डिटेक्टीव कहानी सदाबहार कहानियां हैं. हर दौर के लोग इसे पसंद करते हैं. लेकिन बॉबी जासूस टिपिकल जासूसों वाली कहानी नहीं हैं. आप फिल्म देखेंगे तो खुद इस बात का अनुमान लगा लेंगे कि यह टिपिकल फिल्म नहीं है. जासूस की कहानी है. लेकिन एक लड़की के जासूस बनने के सपने और उसे पूरा करने की कहानी है.
खबरें थीं कि जल्द ही आप दोनों शादी कर लेंगे?
हमें शादी से कोई परहेज नहीं. ऐसा भी नहीं कि हम शादी को बंधन मान रहे. हां, सही वक्त आने पर हम कर लेंगे शादी. फिलहाल 15 नवंबर से बॉबी जासूस की शूटिंग शुरू करेंगे. अगले साल की शुरुआत में हम शादी कर लेंगे. और बकायदा सबको बता कर करेंगे. फिलहाल फिल्म पर हमारा पूरा ध्यान है.
किस तरह की शादी करेंगे आप? बड़ा जश्न होगा या साधारण समारोह?
यह छोटा सा ही समारोह होगा. मैं पार्टी गर्ल नहीं हूं. दिखावा भी मुझे खास पसंद नहीं आता. मैंने कुछ खास तैयारी नहीं की है.  इस समारोह में मेरे तथा साहिल के घरवालों के साथ हमारे कुछ करीबी मित्र होंगे.मैंने अपनी डिजाइनर दोस्त थीया को अपनी शादी के कपड़ों की जिम्मेदारी सौंप दी है.  बस छोटा सा सब समारोह होगा, जिसमें खास लोग होंगे. मुझे शोर शराबा बिल्कुल पसंद नहीं.
 साहिल से जुड़ने के बाद जिंदगी कैसे बदली?
साहिल ने मुझे धैर्य के साथ जिंदगी जीना सिकाया है. वह सिर्फ बिजनेस पार्टनर नहीं दोस्त है. मैं जिस हिस्से में कमजोर हूं. साहिल उस हिस्से में स्ट्रांग हैं. साहिल जब से जिंदगी में आये हैं. सुकून आ गया है. जिंदगी में. मैं  पहले से ज्यादा आत्मविश्वासी बन गयी हूं . हम दोनों खाने के बहुत शौकीन हैं. तो जम कर खाते हैं और जम कर काम करते हैं. जब मैं नर्वस होती हूं तो साहिल संभालते हैं. सच कहूं तो शायद साहिल जिंदगी में न होते तो मैं प्रोडक् शन का काम नहीं कर पाती.
शादी के बाद अभिनेत्रियों की जिंदगी में आने वाले बदलाव को लेकर काफी चर्चा होती रहती है. आप इसके लिए कितनी तैयार हैं?
हां, हमेशा यह चर्चा होती रहती है. लेकिन मुझे नहीं लगता. शादी सिर्फ स्टैंप पेपर पर साइन करने का एक तरीका होता है. साथ हम अब भी हैं. सो, मैं शादी को लेकर कंफर्ट जोन में हूं. मुझे ऐसी कोई बड़ी परेशानी होने नहीं जा रही है.
आपकी आनेवाली फिल्में?
फिलहाल बॉबी जासूस और इसके बाद एक और स्क्रिप्ट पर काम हो रहा है.

No comments:

Post a Comment