20140623

सफलता से चहक रही हूं मैं : श्रद्धा


उनकी पहले भी दो फिल्में रिलीज हो चुकी थीं. लेकिन सफलता का स्वाद चखने का मौका उन्हें फिल्म आशिकी 2 से मिला. इस फिल्म से न सिर्फ उन्होंने लोकप्रियता हासिल की, बल्कि अब हिंदी फिल्म इंडस्ट्री में निर्देशकों को भी उनमें काफी संभावना नजर आ रही है. बात हो रही है श्रद्धा कपूर की, जिनकी अगली फिल्म है एक विलेन. 

फिल्म आशिकी 2 से आपको बड़ी सफलता मिली है तो इसका श्रेय किसे देना चाहेंगी. एक विलेन में आपका क्या किरदार है?
मैं इसका श्रेय मोहित सूरी को देना चाहूंगी. चूंकि उन्होंने आरोही को काफी लोकप्रिय किरदार बना दिया है. और मैं फिर से एक विलेन उनके साथ ही कर रही हूं तो मुझे पूरा यकीन है कि लोग आरोही को जितना प्यार करते हैं आयशा को भी करेंगे. एक विलेन में मेरा किरदार आयशा का किरदार है, जो कि काफी बोलनेवाली है. वह आरोही की तरह शांत शांत नहीं रहती. जोक्स क्रैक करती रहती है. खुद को बहुत फनी समझती है. बहुत ही एनजेर्टिक लड़की है. दूसरों की हेल्प करना चाहती है और इसके लिए वह अपने गुरु की मदद लेती है और फिर कैसे दोनों में प्यार हो जाता है. यह है आयशा का किरदार. गुरु का किरदार बिल्कुल शांत रहता है. फिल्म में गुरु के संवाद ही नहीं हैं और मेरे 90 पेज के डायलॉग हैं. अब तक इस फिल्म के लिए जितने संवाद याद किये हैं. शायद तीनों फिल्मों को मिला कर भी नहीं किया होगा.

इस फिल्म में आपको बाइक चलाया है. स्कूवा डाइविंग की है तो यह आपके लिए कितना टफ था?
 मैं स्कूवा डाइविंग की सर्टिफाइड स्टूडेंट हूं और मैं फन लविंग हूं. एंडवेंचर करना पसंद हैं तो मुझे ये सब करने में काफी मजा आ रहा था, हां मैं बाइक चलाना नहीं जानती थी. मैं हाइट में कम हूं और मुझे बुलेट चलाने को दे दिया गया था इस फिल्म में. बुलेट के साथ परेशानी ये थी कि बुलेट चलती है तो काफी स्टेबल रहती है. लेकिन रुकती है तो गिर जाती है. तो उसे बैलेंस करने में तकलीफ आयी. लोगों को लग रहा था कि मैं नहीं कर पाऊंगी. मुझसे बाइक नहीं चलेगी. लेकिन मुझे लगता  है कि जो लोग छोटे होते हैं न उनके पास ज्यादा पॉवर होता है. तभी तो मैंने कर लिया. और इस फिल्म की वजह से मुझे बाइक से प्यार हो गया है और मेरा मन है कि मैं बाइक खरीदूं. खुद के लिए.

आशिकी 2 की सफलता पर आपके पिता की क्या प्रतिक्रिया थी. 
मेरे लिए यह फिल्म इस लिहाज से खास रही कि इसे मेरी सोलो पहली हिट फिल्म रही. लोग अब पहचानने लगे हैं. कार में जाओ तो लोग पहचानते हैं तो अच्छा लगता है कि लोग पहचान रहे हैं. अब अच्छे आॅफर आ रहे हैं. निर्देशकों का विश्वास बढ़ा है. मेरे डैड मुझसे ज्यादा खुश हैं कि मुझे आशिकी 2 से इतनी बड़ी सफलता मिली है. अपने पेरेंट्स को अपने प्राउड करूं. मैं यही चाहती थी. तो अच्छा लगता है. अब अलग तरह की फिल्में आॅफर हो रही हैं. मैं अपने पिता की एक खास बात हमेशा याद रखना चाहूंगी कि वह हमेशा मुझे कहते हैं कि मैं बहुत हार्ड वर्किंग हूं और वह मेरी बहुत कद्र करते हैं. मेरी छोटी छोटी सफलता से वह जिस तरह से खुश हो रहे हैं. मुझे अच्छा लगता है. डैड हमेशा कहते हैं कि मुझमें कहीं एक लड़का छुपा हुआ है. मतलब जो काम लड़के करते हैं. मैं वह सब आसानी से कर लेती हूं. उनके अनुसार मैं बहुत टफ लड़की हूं. बाहर के  लोगों को भले ही लगे कि मैं छुई मुई सी हूं मेरी फेस की वजह से लेकिन पापा जानते हंै कि मैं कितनी टफ लड़की हूं.वो मुझे क्रिटिसाइज नहीं करते. मेरी मासी( पदमिनी कोल्हापुरे) मुझे बताती हैं कि अगर मेरी एक्टिंग में कहीं कोई गलती या कमी हो तो. पापा कभी नहीं बताते.

बॉलीवुड में नये चेहरे काफी नजर आ रहे हैं. तो क्या लगता है आपको क्या यह सुनहरा मौका है आपके लिए?
जी हां, बिल्कुल. मुझे लगता है कि यंग बिग्रेड  का दौर आ चुका है. अभी लोगों को हमारे चेहरे देखने हैं. नये चेहरे देखने हैं. आॅडियंस का माइंडसेट बदला है. अब सिर्फ सुपरस्टार्स को नहीं देखना चाहते. मेरा मानना है कि नये चेहरों के माध्यम से अच्छी स्क्रिप्ट लोगों को दिखाये जा रहे हैं तो यह सबसे बेहतरीन दौर है मेरे लिए,. मुझे खुशी है कि भले ही इससे पहले मेरी दो फिल्में हिट नहीं हुई. लेकिन आशिकी 2 बिल्कुल सही समय पर हिट हुई है और मुझे इसके बाद बेहतरीन फिल्में मिल रही हैं.

आपकी आनेवाली फिल्में कौन कौन सी हैं?
 मैं हैदर और उंगली में खास किरदार निभा रही हूं और ये सभी किरदार एक दूसरे से जुदा हैं. इसलिए इन्हें लेकर बहुत उत्साहित हूं.

1 comment: