My Blog List

20160326

रियलिस्टिक अप्रोच वाले शोज ही पसंद हैं: निकिता दत्ता


निकिता दत्ता ने ड्रीम गर्ल से अपने छोटे परदे के करियर की शुरुआत की। इन दिनों उन्हें सोनी टीवी के शो में काफी लोकप्रियता हासिल हो रही है। 

ड्रीम गर्ल के बाद यह रोल आपके लिए कितना चैलेंजिंग है?
मुझे लगता है कि वह हर रोल आपके लिए चैलेंजिंग ही होता है, जो आपके कंफर्ट जोन से बाहर होता है।इसमें जो रोल है सुमन का, वह अलग अलग है। जैसे हमलोग भी एक से नहीं होते हरदम। घर में अलग बाहर अलग होते हैं। तो कुछ हद तक तो मैं सुमन के किरदार से काफी रिलेट कर पाती हूं। क्योंकि मैं भी कभी कभी बहुत साड़ी जगहों पर चुप रहती हूं तो कई बार बाहर के कामों में मैं दबंग भी हूं। इसलिए आप कहीं-कहीं सुमन में मेरी झलक देख सकते हैं। सुमन भी मल्टी टास्क करती है और मुझे भी अपने घर की मल्टी टास्किंग क्वीन ही माना जाता है।
ड्रीम गर्ल छोड़ने की कोई खास वजह रही?
मैंने अपने लिए हमेशा काम करते रहने के लिए कुछ गाईडलाईन तैयार कर रखे हैं। मैंने वह शो छोड़ा क्योंकि वहां जो कहा गया था उस हिसाब से ट्रैक नहीं जा रहे थे। सो मुझे लगा कि मैं यह शो अब और नहीं कर सकती। मैं पैसे के लिए काम नहीं करती। शुरूआती दौर में जब मॉडलिंग करती थी। उस वक़्त भी मुझे पैसों की खास लालसा नहीं था। एक्टिंग करना पसंद है इसलिए कर रही। जिस दिन महसूस होगा कि यहां भी मुझे जो किरदार सौंपा गया है। कहानी उस ट्रैक पर नहीं चल रही। तो मैं शो के साथ सिर्फ इसलिए जुड़ी नहीं रहूंगी कि मुझे शो करना ही है। मैं फ़ौरन शो छोड़ दूंगी।हालांकि ये फायिनाइट शो है तो मुझे नहीं लगता कि इस शो की स्टोरी लाइन से छेड़छाड़ की जायेगी।
टेलीविज़न के ट्रेंड को किस तरह देखती हैं आप?
मुझे सास बहू वाले शोज बिलकुल पसंद नहीं हैं और शायद यही वजह है कि ड्रीम गर्ल के बाद मुझे कई शोज़ ऑफर हुए है। लेकिन मैंने सबको ना ही कहा।चूंकि मुझे रियलिस्टिक अप्रोच वाले शोज ही पसन्द आते हैं और कॉन्सेप्ट भी। इस शो में भी आप देख रहे होंगे कि बचपन की प्रेम कहानी दिखाई जा रही कि दोनों के बीच कुछ ऐसा होता है कि दोनों एक दूसरे से नाराज हो जाते हैं।ऐसा रियल जिंदगी में भी तो होता ही है। इसलिए इससे मैं भी कनेक्ट कर पायी हूं।  हालांकि इस फील्ड में आप कभी नेवर से नो वाले फंडे पर ही चलते हैं।शायद कभी ऐसा हो कि मजबूरी भी सास बहु करने पड़े। लेकिन कभी प्राथमिकता नहीं।
आप मिस इंडिया की प्रतियोगिता में प्रतिभागी रह चुकी हैं।तो आपको क्या लगता है मॉडलिंग अभिनय की दुनिया में एंट्री लेने के रास्ते आसान कर देता है?
मुझे लगता है कि आपको माहौल के बारे में तो थोड़ी बहुत जानकारी जरूर हो जाती है। एक सबसे बड़ी  बात जो हम इस तरह के ब्यूटी कॉम्पटीशन से सीखते हैं वह यह है कि आपमें आत्मविश्वास काफी आ जाता है ।बाकी मुझे जो भी काम मिले हैं मैंने लगातार मेहनत की है। तब जाकर काम मिले हैं। मैंने सैफ अली खान निर्मित फ़िल्म लेकर हम दीवाना दिल में काम किया। वह मेरा पहला प्रॉजेक्ट था। बड़े लेवल पर। फिर मैंने कई विज्ञापनों में भी काम किया।तो मॉडलिंग से आपको एक बड़ा एक्सपोजर तो मिलता ही है। हां मगर पिछले कई सालों में प्रतियोगिता कठिन हुई है। यह बात जरूर कहना चाहूंगी। शायद यही वजह है कि कई सालों से भारत को कामयाबी हासिल नहीं हुई है और इस बात का मुझे काफी अफ़सोस होता है। लेकिन हां यह एक बड़ा मंच जरूर देता है। आप काफी एटिकेट्स सीख जाते हैं।साथ ही आप कई नए लोगों से भी मिलते हैं। फिर आपके कई तरह के दोस्त भी बन जाते हैं। आप दुनिया की कई हकीकत से आमना सामना करते हो। ये सारी बातें आपको जिंदगी के कई मायने सिखाती हैं। न कि सिर्फ अभिनय की दुनिया में एंट्री के लिए तैयार करती है।
आपने अभी बस शुरुआत ही की है और पहले ही शो में आपने एक आवाज़ उठायी। तो आपको नहीं लगता कि आपने खुद के लिए एक रिस्क लिया है?
मुझे बस यह लगता है कि रिस्क तो हर जगह है।मैं जानती हूं कि न्यू कमर्स से लोग ऐसी उम्मीद नहीं करते हैं कि वह कोई ठोस कदम उठाएगी।लेकिन मैंने अपनी जिंदगी इसी तरह से जी है। तो मुझे लगता है कि मैं इसी तरह जिऊंगी और मुझे पता है कि मेरा काम ही बोलेगा।
जब अभिनय नहीं कर रही होतीं तो क्या करती हैं?
मुझे इंटीरियर करना पसंद है। साथ ही मैं फिटनेस को लेकर हमेशा सजग रहती हूं। तो काफी वर्कआउट करती हूँ। नयी चीजें एक्सप्लोर करने में मज़ा आता है।

No comments:

Post a Comment