My Blog List

20160711

मैंने भी बढ़ाया है अपना दायरा : रितेश देशमुख


रितेश देशमुख फिल्म हाउसफुल 3 में एक बार फिर धमाल मचाने वाले हैं. वे इस सीरिज की तीसरी फिल्म से जुड़ कर बेहद खुश हैं. पेश है अनुप्रिया से हुई बातचीत के मुख्य अंश

हाउसफुल 3 में फिर से क्या धमाल होने वाला है?
हाउसफुल 1 और हाउसफुल 2 दोनों ही दर्शकों को काफी पसंद आयी थी. यही वजह है कि हमलोग इसकी आगे की सीरिज लेकर आये हैं. मुझे लगता है कि कॉमेडी फिल्मों की सीरिज में दर्शकों को हाउसफुल की सीरिज पसंद आती रही है. कॉमेडी में यह नये जोन की फिल्म है. 
लगातार कॉमेडी फिल्में करके आप बोर नहीं होते?
नहीं मैं ऐसा नहीं कह सकता कि बोर हो जाता हूं. मेरी कोशिश होती है कि मैं कॉमेडी में भी हर बार नया करूं. हुमर को एक्सप्लेन नहीं किया जा सकता है. लेकिन अब मैंने भी अपना दायरा बढ़ाया है. मैंने हाल ही में बैंजो फिल्म की शूटिंग पूरी की है.यशराज के साथ भी मैंने फिल्म पूरी की है, जिसका नाम है बैंकचोर.  यह सारी कॉमेडी फिल्में हैं. 
इस फिल्म में आपने मस्ती खूब की है?
यह फिल्म हमने मस्ती करने के लिए ही की है. हमने जब सुनी कहानी तो हमने सोचा कि हां हम यह फिल्म कर रहे हैं, हम सारे ब्वॉयज ने काफी मस्ती की है. इस फिल्म से अभिषेक, अक्षय से जुड़ने का और मौका मिला. लेकिन ऐसा नहीं है कि लड़कियों ने मस्ती नहीं की है. उन लोगों ने काफी मस्ती की है. हम लोगों की अच्छी टीम बन गयी थी. जैकलीन को काफी सालों से मैं जानता हूं. लीजा से इस बार मिला. नरगिस से इस बार मिला. मजा आया.
आपको लगता है कि वास्तविक जिंदगी में आप जितने गंभीर हैं. दर्शक इसके बारे में नहीं जानते. उनके सामने अलग ही छवि है आपकी तो आप कभी सीरियस किरदार निभाना चाहेंगे?
 फिल्म बने और कामयाब हो तो आपको हौसला मिलता है. लय भारी और एक विलेन में काम किया. और दोनों ही एक्सपेरिमेंट को पसंद किया गया है. बैंजो भी सीरियस फिल्म है. यह एक म्यूजिकल ड्रामा है. उस फिल्म को हां मैंने इसलिए किया क्योंकि अलग तरह का किरदार है.
एंटरटेनमेंट को  लेकर आपकी क्या सोच है?
कई तरह से एंटरटेनमेंट होते हैं. एक तरह से यह स्क्रैच कार्ड की तरह है. मुझे लगता है कि शिफ्ट होता है हुमर में भी. लोग अब इन बातों को समझने लगे हैं. तो मुझे लगता है कि एंटरटेनमेंट वही है. करन जौहर ने कभी खुशी कभी गम बनायी. वह फैमिली ड्रामा थी.लेकिन आज की फैमिली ड्रामा में भी तो बदला है. आज तो लोकेशन में भी शिफ्ट हुआ है. तो आपका जोन अगर सही हो तो लोग उन फिल्मों को एंजॉय कर रहे हैं, जिसमें स्क्रिप्ट है. मुझे लगता है कि दर्शकों की वजह से बदलाव आया है. इतने सारी चीजें आयी हैं. सात साल पहले मोबाइल पर शॉपिंग नहीं करते थे. हर चीज बदल रहा है. 
बतौर एक्टर किस तरह से आप खुद को मांझते हैं?
मैं खुद की तैयारी करता हूं. निर्देशकों पर भी निर्भर करता है. मैं उनसे भी काफी कुछ सीखता हूं. मैं अपने को स्टार्स से भी बहुत कुछ सीखता रहता हूं. अब वक्त के साथ साथ हमें भी बदलना होगा. तभी टिक पायेंगे.
इंडस्ट्री में कई ब्रेकअप्स हुए हैं. ऐसे में खुशहाल दांपत्य जीवन जीने के राज क्या है?
मुझे लगता है कि आपको खुश रहना बहुत जरूरी है. जरूरत सामान्य हो तो आप ज्यादा खुश रह सकते हैं. आप कपल हैं तो अपने अपने विजन को इज्जत देना आना चाहिए.  मैं अपने बारे में कह सकता कि एक दूसरे के विजन को समझना जरूरी है.

No comments:

Post a Comment